काव्यशाला पृष्ठ 10 | मातृभाषा - माँ भारती का श्रृंगार | Hindi Poems

कालजयी कविताएँ

हिंदी साहित्य की कालजयी कविताओं का संकलन





गुलाब खंडेलवाल

मेरे गीत, तुम्हारा स्वर हो

गुलाब खंडेलवाल

शृंगार रस | आधुनिक काल

 1075  1

सोहनलाल द्विवेदी

मीठे बोल

सोहनलाल द्विवेदी

शांत रस | आधुनिक काल

 1017  0

बालकृष्ण राव

गरमियों की शाम

बालकृष्ण राव

अद्भुत रस | आधुनिक काल

 685  0

धर्मवीर भारती

आँगन

धर्मवीर भारती

करुण रस | आधुनिक काल

 1347  0

पाश

क्या-क्या नहीं है मेरे पास

पाश

शांत रस | आधुनिक काल

 813  0

श्रीधर पाठक

हिंद-महिमा

श्रीधर पाठक

वीर रस | आधुनिक काल

 2046  1

गोपाल सिंह नेपाली

आ रहे तुम बन कर मधुमास

गोपाल सिंह नेपाली

शृंगार रस | आधुनिक काल

 1006  0

कुमार विश्वास

हार गया तन-मन पुकार कर तुम्हें

कुमार विश्वास

शृंगार रस | आधुनिक काल

 1477  0

रामधारी सिंह 'दिनकर'

शक्ति और क्षमा 

रामधारी सिंह 'दिनकर'

वीर रस | आधुनिक काल

 3313  1

त्रिलोचन

स्पष्टीकरण

त्रिलोचन

करुण रस | आधुनिक काल

 1029  0

कुम्भनदास

सीतल सदन में सीतल भोजन भयौ,

कुम्भनदास

शांत रस | भक्तिकाल

 1014  0

वृन्दावनलाल वर्मा

भारत-पथिक

वृन्दावनलाल वर्मा

अद्भुत रस | आधुनिक काल

 611  0

नरेन्द्र शर्मा

जय जयति भारत भारती

नरेन्द्र शर्मा

वीर रस | आधुनिक काल

 1752  0

रामचंद्र शुक्ल

भारतेन्दु हरिश्चंद्र

रामचंद्र शुक्ल

अद्भुत रस | आधुनिक काल

 655  0

केदारनाथ अग्रवाल

बसंती हवा

केदारनाथ अग्रवाल

अद्भुत रस | रीतिकाल

 925  0

ठाकुर

धनि हैँगे वे तात औ मात

ठाकुर

अद्भुत रस | रीतिकाल

 764  0

गोपाल सिंह नेपाली

शासन चलता तलवार से

गोपाल सिंह नेपाली

वीर रस | आधुनिक काल

 3007  0

गोपाल सिंह नेपाली

युगांतर

गोपाल सिंह नेपाली

वीर रस | आधुनिक काल

 1311  0

हरिवंश राय बच्चन

मैं कल रात नहीं रोया था

हरिवंश राय बच्चन

करुण रस | आधुनिक काल

 2147  0

प्रदीप

आओ बच्चो तुम्हें दिखाएं

प्रदीप

अद्भुत रस | आधुनिक काल

 691  0

रामधारी सिंह 'दिनकर'

मनुष्यता

रामधारी सिंह 'दिनकर'

वीभत्स रस | आधुनिक काल

 4929  0

राजेश रेड्डी

आग है, पानी है, मिट्टी है, हवा है मुझमें

राजेश रेड्डी

शांत रस | आधुनिक काल

 894  0

आनंद बख़्शी

आज मौसम बड़ा बेईमान है

आनंद बख़्शी

शृंगार रस | आधुनिक काल

 1250  0

गोपालदास ‘नीरज’

जब भी इस शहर में कमरे से मैं बाहर निकला

गोपालदास ‘नीरज’

करुण रस | आधुनिक काल

 1156  0

श्रीधर पाठक

निज स्वदेश ही

श्रीधर पाठक

वीर रस | आधुनिक काल

 1191  0

त्रिलोचन

हाथों के दिन

त्रिलोचन

अद्भुत रस | आधुनिक काल

 705  0

आनंद बख़्शी

आदमी मुसाफ़िर है

आनंद बख़्शी

शृंगार रस | आधुनिक काल

 1093  0

त्रिलोचन

उनका हो जाता हूँ

त्रिलोचन

अद्भुत रस | आधुनिक काल

 769  0

प्रभाकर माचवे

अ-परंपरित 

प्रभाकर माचवे

शांत रस | आधुनिक काल

 691  0

घनानंद

जासों प्रीति ताहि निठुराई

घनानंद

शृंगार रस | रीतिकाल

 1039  0




  परिचय

"मातृभाषा", हिंदी भाषा एवं हिंदी साहित्य के प्रचार प्रसार का एक लघु प्रयास है। "फॉर टुमारो ग्रुप ऑफ़ एजुकेशन एंड ट्रेनिंग" द्वारा पोषित "मातृभाषा" वेबसाइट एक अव्यवसायिक वेबसाइट है। "मातृभाषा" प्रतिभासम्पन्न बाल साहित्यकारों के लिए एक खुला मंच है जहां वो अपनी साहित्यिक प्रतिभा को सुलभता से मुखर कर सकते हैं।

  Contact Us
  Registered Office

47/202 Ballupur Chowk, GMS Road
Dehradun Uttarakhand, India - 248001.

Tel : + (91) - 7534072808
Mail : info@maatribhasha.com