काव्यशाला पृष्ठ 3 | मातृभाषा - माँ भारती का श्रृंगार | Hindi Poems

कालजयी कविताएँ

हिंदी साहित्य की कालजयी कविताओं का संकलन





महादेवी वर्मा

अलि, मैं कण-कण को जान चली

महादेवी वर्मा

अद्भुत रस | आधुनिक काल

 1310  1

चंदबरदाई

पृथ्वीराज रासो

चंदबरदाई

वीर रस | भक्तिकाल

 15318  1

सुमित्रानंदन पंत

परिवर्तन

सुमित्रानंदन पंत

अद्भुत रस | आधुनिक काल

 1496  0

नरेन्द्र शर्मा

आज के बिछुड़े

नरेन्द्र शर्मा

शृंगार रस | आधुनिक काल

 3942  0

सोम ठाकुर

मंगल विलय

सोम ठाकुर

शृंगार रस | आधुनिक काल

 2441  0

त्रिलोचन

परिचय की गाँठ

त्रिलोचन

शृंगार रस | आधुनिक काल

 2471  0

गोपालदास ‘नीरज’

मेरा गीत दिया बन जाए

गोपालदास ‘नीरज’

शांत रस | आधुनिक काल

 1351  0

गोपाल सिंह नेपाली

कुछ ऐसा खेल रचो साथी

गोपाल सिंह नेपाली

करुण रस | आधुनिक काल

 4089  1

बालकृष्ण शर्मा 'नवीन'

प्राप्तव्य

बालकृष्ण शर्मा 'नवीन'

अद्भुत रस | आधुनिक काल

 842  0

प्रदीप

गा रही है ज़िंदगी हर तरफ़

प्रदीप

अद्भुत रस | आधुनिक काल

 1264  0

गजानन माधव 'मुक्तिबोध'

सहर्ष स्वीकारा है

गजानन माधव 'मुक्तिबोध'

अद्भुत रस | आधुनिक काल

 996  0

केशव

एक भूत में होत

केशव

शांत रस | रीतिकाल

 1377  0

गोपालदास ‘नीरज’

तुम दीवाली बनकर

गोपालदास ‘नीरज’

शांत रस | आधुनिक काल

 1558  0

मैथिलीशरण गुप्त

सखि वे मुझसे कह कर जाते

मैथिलीशरण गुप्त

करुण रस | आधुनिक काल

 3768  4

गजानन माधव 'मुक्तिबोध'

विचार आते हैं

गजानन माधव 'मुक्तिबोध'

अद्भुत रस | आधुनिक काल

 999  0

शिवमंगल सिंह 'सुमन'

रणभेरी

शिवमंगल सिंह 'सुमन'

वीर रस | आधुनिक काल

 10884  2

गुलाब खंडेलवाल

मन का ताप हरो

गुलाब खंडेलवाल

शांत रस | आधुनिक काल

 974  1

नक्श लायलपुरी

तमाम उम्र चला हूँ मगर चला न गया

नक्श लायलपुरी

शृंगार रस | आधुनिक काल

 3781  0

जयप्रकाश नारायण

विफलता : शोध की मंज़िलें

जयप्रकाश नारायण

अद्भुत रस | आधुनिक काल

 973  0

रामधारी सिंह 'दिनकर'

कुरुक्षेत्र / द्वितीय सर्ग / भाग 2

रामधारी सिंह 'दिनकर'

वीर रस | आधुनिक काल

 11718  0

नागार्जुन

सच न बोलना

नागार्जुन

वीभत्स रस | आधुनिक काल

 5623  2

केदारनाथ अग्रवाल

हमारी जिन्दगी 

केदारनाथ अग्रवाल

करुण रस | आधुनिक काल

 3304  0

रहीम

अति अनियारे मानौ सान दै सुधारे

रहीम

करुण रस | भक्तिकाल

 2386  0

रामधारी सिंह 'दिनकर'

कृष्ण की चेतावनी

रामधारी सिंह 'दिनकर'

रौद्र रस | आधुनिक काल

 17197  2

हरिओम पंवार

विमान-अपहरण

हरिओम पंवार

वीर रस | आधुनिक काल

 6560  0

महादेवी वर्मा

बया हमारी चिड़िया रानी

महादेवी वर्मा

शांत रस | आधुनिक काल

 1444  0

गोपालदास ‘नीरज’

धनिकों के तो धन हैं लाखों

गोपालदास ‘नीरज’

शृंगार रस | आधुनिक काल

 3354  0

केशव

पवन चक्र परचंड चलत

केशव

भयानक रस | रीतिकाल

 3745  0

रामधारी सिंह 'दिनकर'

वातायन

रामधारी सिंह 'दिनकर'

शांत रस | आधुनिक काल

 1190  0

पद्माकर

अँचल के ऎँचे चल करती दॄगँचल को

पद्माकर

शृंगार रस | रीतिकाल

 2115  0




  परिचय

"मातृभाषा", हिंदी भाषा एवं हिंदी साहित्य के प्रचार प्रसार का एक लघु प्रयास है। "फॉर टुमारो ग्रुप ऑफ़ एजुकेशन एंड ट्रेनिंग" द्वारा पोषित "मातृभाषा" वेबसाइट एक अव्यवसायिक वेबसाइट है। "मातृभाषा" प्रतिभासम्पन्न बाल साहित्यकारों के लिए एक खुला मंच है जहां वो अपनी साहित्यिक प्रतिभा को सुलभता से मुखर कर सकते हैं।

  Contact Us
  Registered Office

47/202 Ballupur Chowk, GMS Road
Dehradun Uttarakhand, India - 248001.

Tel : + (91) - 7534072808
Mail : info@maatribhasha.com