नामवर सिंह | मातृभाषा - माँ भारती का श्रृंगार

नामवर सिंह

जीवन परिचय

डॉ. नामवर सिंह का जन्म 1 मई ( या 28 जुलाई) 1927 को वाराणसी जिले के जीयनपुर नामक गाँव में हुआ । काशी विश्वविद्यालय से उन्होने हिन्दी में एम.ए.और पी.एच डी . की । 82 वर्ष की उम्र पूर्ण कर चुके नामवरजी विगत 65 से भी अधिक वर्षो से साहित्य के क्षेत्र में हैं । पिछले 30-35 वर्षों से वे भारत के विभिन्न क्षेत्रों में जाकर व्याख्यान भी दे रहे हैं |

इन्होंने अध्यापन कार्य का आरम्भ काशी हिन्दू विश्वविद्यालय से किया, जोधपुर विश्वविद्यालय में हिन्दी विभाग के प्रोफेसर रहे, जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय दिल्ली में भारतीय भाषा केन्द्र के संस्थापक अध्यक्ष तथा हिन्दी प्रोफेसर (1965-92) रहे और अब उसी विश्वविद्यालय में प्रोफेसर इमेरिट्स हैं । डॉ. नामवर सिंह महात्मा गांधी अंतर्राष्ट्रीय हिन्दी विश्वविद्यालय के कुलाधिपति भी हैं ।

डॉ. नामवर सिंह हिन्दी अकादमी दिल्ली के “शलाका सम्मान”(1991), उत्तरप्रदेश हिन्दी संस्थान के  “साहित्य भूषण सम्मान" (1993) से सम्मानित हैं।

लेखन शैली

हिन्दी के प्रमुख समकालीन आलोचक।

प्रमुख कृतियाँ
क्रम संख्या कविता का नाम रस लिंक
1

आज तुम्हारा जन्मदिवस

शांत रस
2

उनये उनये

शांत रस
3

पारदर्शी नील जल में

शृंगार रस
4

फागुनी शाम

शांत रस
5

मँह-मँह बेल कचेलियाँ

शांत रस
6

नभ के नीले सूनेपन में

करुण रस
7

धुंधुवाता अलाव

अद्भुत रस
8

कभी जब याद आ जाते

शृंगार रस
9

हरित फौवारों सरीखे धान

शांत रस
10

पथ में साँझ

अद्भुत रस
11

कोजागर

शांत रस
12

बुरा ज़माना

शांत रस
13

विजन गिरीपथ पर

अद्भुत रस
14

दोस्त, देखते हो जो तुम

अद्भुत रस
15

दिन बीता

शांत रस

  परिचय

"मातृभाषा", हिंदी भाषा एवं हिंदी साहित्य के प्रचार प्रसार का एक लघु प्रयास है। "फॉर टुमारो ग्रुप ऑफ़ एजुकेशन एंड ट्रेनिंग" द्वारा पोषित "मातृभाषा" वेबसाइट एक अव्यवसायिक वेबसाइट है। "मातृभाषा" प्रतिभासम्पन्न बाल साहित्यकारों के लिए एक खुला मंच है जहां वो अपनी साहित्यिक प्रतिभा को सुलभता से मुखर कर सकते हैं।

  Contact Us
  Registered Office

47/202 Ballupur Chowk, GMS Road
Dehradun Uttarakhand, India - 248001.

Tel : + (91) - 7534072808
Mail : info@maatribhasha.com