आधुनिककाल की कविताएँ | मातृभाषा - माँ भारती का श्रृंगार

आधुनिक काल की कविताएँ

मुख्य पृष्ठ / काव्यशाला / आधुनिककाल

हिंदी साहित्य के आधुनिक काल की कालजयी कविताओं का संकलन



फागुन

बालकृष्ण शर्मा 'नवीन'

अद्भुत रस | आधुनिक काल

भर देते हो

सूर्यकांत त्रिपाठी ‘निराला’

शांत रस | आधुनिक काल

हमारे कृषक

रामधारी सिंह 'दिनकर'

अद्भुत रस | आधुनिक काल

पवन शान्त नहीं है

त्रिलोचन

अद्भुत रस | आधुनिक काल

मृत्तिका दीप

शिवमंगल सिंह 'सुमन'

अद्भुत रस | आधुनिक काल

मुझे फूल मत मारो

मैथिलीशरण गुप्त

करुण रस | आधुनिक काल

मेरे सपनों के भाग में

कुमार विश्वास

शांत रस | आधुनिक काल

यदि होता किन्नर नरेश मैं

द्वारिका प्रसाद माहेश्वरी

शांत रस | आधुनिक काल

तुम आयीं

केदारनाथ सिंह

शृंगार रस | आधुनिक काल

जो तुम आ जाते एक बार

महादेवी वर्मा

करुण रस | आधुनिक काल

धर्म

दुष्यंत कुमार

शांत रस | आधुनिक काल

झांसी की रानी

सुभद्राकुमारी चौहान

वीर रस | आधुनिक काल

भारत माता का मंदिर यह

मैथिलीशरण गुप्त

शांत रस | आधुनिक काल

दुपहरिया

केदारनाथ सिंह

शांत रस | आधुनिक काल

तेरी सुधि बिन क्षण क्षण सूना

महादेवी वर्मा

शृंगार रस | आधुनिक काल

मैं बनी मधुमास आली

महादेवी वर्मा

शृंगार रस | आधुनिक काल

बीती विभावरी जाग री

जयशंकर प्रसाद

शांत रस | आधुनिक काल

खाली कागज़ पे क्या तलाश करते हो

गुलज़ार

शांत रस | आधुनिक काल

यमुना-वर्णन

भारतेंदु हरिश्चंद्र

अद्भुत रस | आधुनिक काल

राणा प्रताप की तलवार

श्यामनारायण पाण्डेय

वीर रस | आधुनिक काल

नवीन कल्पना करो

गोपाल सिंह नेपाली

अद्भुत रस | आधुनिक काल

संध्या के संग लौट आना तुम 

सोम ठाकुर

शृंगार रस | आधुनिक काल

शहरबदल

केदारनाथ सिंह

शांत रस | आधुनिक काल

गंगा की विदाई

माखनलाल चतुर्वेदी

वीर रस | आधुनिक काल

और का और मेरा दिन

केदारनाथ अग्रवाल

करुण रस | आधुनिक काल

सह जाओ आघात प्राण

त्रिलोचन

वीर रस | आधुनिक काल

आप का खत मिला आप का शुक्रिया

आनंद बख़्शी

शृंगार रस | आधुनिक काल

आज तुम्हारा जन्मदिवस

नामवर सिंह

शांत रस | आधुनिक काल

निर्भय

सुब्रह्मण्यम भारती

वीर रस | आधुनिक काल

ख़ज़ाना कौन सा उस पार होगा

राजेश रेड्डी

शांत रस | आधुनिक काल

फिर तो

अशोक चक्रधर

हास्य रस | आधुनिक काल

वसंत गीत

गोपाल सिंह नेपाली

शृंगार रस | आधुनिक काल

हिंडोला

बालकृष्ण शर्मा 'नवीन'

अद्भुत रस | आधुनिक काल

एक रुबाई

गोपाल सिंह नेपाली

अद्भुत रस | आधुनिक काल

वीरों का कैसा हो वसंत

सुभद्राकुमारी चौहान

वीर रस | आधुनिक काल

बहुत सँभाल के

दुष्यंत कुमार

अद्भुत रस | आधुनिक काल

फूल

महादेवी वर्मा

शृंगार रस | आधुनिक काल

कर्मवीर

अयोध्या सिंह उपाध्याय ‘हरिऔध’

वीर रस | आधुनिक काल

आग की भीख

रामधारी सिंह 'दिनकर'

भयानक रस | आधुनिक काल

दोहे

बालकृष्ण शर्मा 'नवीन'

शृंगार रस | आधुनिक काल

कितने अच्छे अम्मा बाबू

प्रभुदयाल श्रीवास्तव

अद्भुत रस | आधुनिक काल

पूरा दिन

गुलज़ार

शांत रस | आधुनिक काल

जिस मृग पर कस्तूरी है

कुँअर बेचैन

अद्भुत रस | आधुनिक काल

जीवन, विरह का जलजात

महादेवी वर्मा

शांत रस | आधुनिक काल

सतपुड़ा के घने जंगल

भवानी प्रसाद मिश्र

शांत रस | आधुनिक काल

दो-चार

पदुमलाल पुन्नालाल बख्शी

अद्भुत रस | आधुनिक काल

ऊधो जो अनेक मन होते

भारतेंदु हरिश्चंद्र

शृंगार रस | आधुनिक काल

कौन आता है सपना बन के 

गुलाब खंडेलवाल

शांत रस | आधुनिक काल

एक घनाक्षरी

पदुमलाल पुन्नालाल बख्शी

अद्भुत रस | आधुनिक काल

इन ढलानों पर वसंत आएगा

मंगलेश डबराल

शांत रस | आधुनिक काल

इंदिरा जी की मृत्यु पर

हरिओम पंवार

करुण रस | आधुनिक काल

प्यासे होंठों से

कुँअर बेचैन

शांत रस | आधुनिक काल

सुभाषचन्द्र

गयाप्रसाद शुक्ल 'सनेही'

वीर रस | आधुनिक काल

अलि, मैं कण-कण को जान चली

महादेवी वर्मा

अद्भुत रस | आधुनिक काल

परिवर्तन

सुमित्रानंदन पंत

अद्भुत रस | आधुनिक काल

आज के बिछुड़े

नरेन्द्र शर्मा

शृंगार रस | आधुनिक काल

मंगल विलय

सोम ठाकुर

शृंगार रस | आधुनिक काल

परिचय की गाँठ

त्रिलोचन

शृंगार रस | आधुनिक काल

मेरा गीत दिया बन जाए

गोपालदास ‘नीरज’

शांत रस | आधुनिक काल

कुछ ऐसा खेल रचो साथी

गोपाल सिंह नेपाली

करुण रस | आधुनिक काल

प्राप्तव्य

बालकृष्ण शर्मा 'नवीन'

अद्भुत रस | आधुनिक काल

गा रही है ज़िंदगी हर तरफ़

प्रदीप

अद्भुत रस | आधुनिक काल

सहर्ष स्वीकारा है

गजानन माधव 'मुक्तिबोध'

अद्भुत रस | आधुनिक काल

तुम दीवाली बनकर

गोपालदास ‘नीरज’

शांत रस | आधुनिक काल

सखि वे मुझसे कह कर जाते

मैथिलीशरण गुप्त

करुण रस | आधुनिक काल

विचार आते हैं

गजानन माधव 'मुक्तिबोध'

अद्भुत रस | आधुनिक काल

रणभेरी

शिवमंगल सिंह 'सुमन'

वीर रस | आधुनिक काल

मन का ताप हरो

गुलाब खंडेलवाल

शांत रस | आधुनिक काल

तमाम उम्र चला हूँ मगर चला न गया

नक्श लायलपुरी

शृंगार रस | आधुनिक काल

विफलता : शोध की मंज़िलें

जयप्रकाश नारायण

अद्भुत रस | आधुनिक काल

कुरुक्षेत्र / द्वितीय सर्ग / भाग 2

रामधारी सिंह 'दिनकर'

वीर रस | आधुनिक काल

सच न बोलना

नागार्जुन

वीभत्स रस | आधुनिक काल

हमारी जिन्दगी 

केदारनाथ अग्रवाल

करुण रस | आधुनिक काल

कृष्ण की चेतावनी

रामधारी सिंह 'दिनकर'

रौद्र रस | आधुनिक काल

विमान-अपहरण

हरिओम पंवार

वीर रस | आधुनिक काल

बया हमारी चिड़िया रानी

महादेवी वर्मा

शांत रस | आधुनिक काल

धनिकों के तो धन हैं लाखों

गोपालदास ‘नीरज’

शृंगार रस | आधुनिक काल

वातायन

रामधारी सिंह 'दिनकर'

शांत रस | आधुनिक काल

उनये उनये

नामवर सिंह

शांत रस | आधुनिक काल

गत मास का साहित्य

फणीश्वर नाथ रेणु

शांत रस | आधुनिक काल

शाम बेच दी है

केदारनाथ सिंह

अद्भुत रस | आधुनिक काल

ब्रह्मराक्षस

गजानन माधव 'मुक्तिबोध'

अद्भुत रस | आधुनिक काल

कोई पार नदी के गाता

हरिवंश राय बच्चन

शांत रस | आधुनिक काल

होने लगा है मुझ पे जवानी का असर

प्रदीप

अद्भुत रस | आधुनिक काल

कुछ भी बन बस कायर मत बन

नरेन्द्र शर्मा

वीर रस | आधुनिक काल

यह फागुनी हवा

फणीश्वर नाथ रेणु

शांत रस | आधुनिक काल

सफ़ाई मत देना

कुमार विश्वास

शृंगार रस | आधुनिक काल

लौट आओ

सोम ठाकुर

शृंगार रस | आधुनिक काल

मौसम की चोट

उर्मिलेश

करुण रस | आधुनिक काल

झुक नहीं सकते

अटल बिहारी वाजपेयी

वीर रस | आधुनिक काल

सहमते स्वर-4

शिवमंगल सिंह 'सुमन'

शांत रस | आधुनिक काल

रात यों कहने लगा मुझसे गगन का चाँद

रामधारी सिंह 'दिनकर'

वीर रस | आधुनिक काल

खुद को आसान कर रही हो ना

कुमार विश्वास

शृंगार रस | आधुनिक काल

सरिता

अयोध्या सिंह उपाध्याय ‘हरिऔध’

अद्भुत रस | आधुनिक काल

एक लहर फैली अनन्त की

त्रिलोचन

शांत रस | आधुनिक काल

प्यार जब जिस्म की चीखों में दफ़न हो जाए

कुमार विश्वास

अद्भुत रस | आधुनिक काल

सपना रे सपना

गुलज़ार

शांत रस | आधुनिक काल

क्यों इन तारों को उलझाते

महादेवी वर्मा

शृंगार रस | आधुनिक काल

सांसों का हिसाब

शिवमंगल सिंह 'सुमन'

अद्भुत रस | आधुनिक काल

दो दिलों के दरमियाँ 

कुँअर बेचैन

शांत रस | आधुनिक काल

अपने ज़िले की मिट्टी से

फणीश्वर नाथ रेणु

वीर रस | आधुनिक काल

जन्‍मभूमि

अयोध्या सिंह उपाध्याय ‘हरिऔध’

शांत रस | आधुनिक काल

परदेशी

रामधारी सिंह 'दिनकर'

करुण रस | आधुनिक काल

यह मन्दिर का दीप

महादेवी वर्मा

अद्भुत रस | आधुनिक काल

चने का लटका 

भारतेंदु हरिश्चंद्र

हास्य रस | आधुनिक काल

मुक्ति

केदारनाथ सिंह

शांत रस | आधुनिक काल

मैं प्यासा भृंग जनम भर का 

गोपाल सिंह नेपाली

शृंगार रस | आधुनिक काल

छिप-छिप अश्रु बहाने वालों

गोपालदास ‘नीरज’

करुण रस | आधुनिक काल

उसकी चूड़ी

उर्मिलेश

शांत रस | आधुनिक काल

पन्‍द्रह अगस्‍त

गिरिजाकुमार माथुर

शांत रस | आधुनिक काल

नदी को रास्‍ता किसने दिखाया

बालकृष्ण राव

अद्भुत रस | आधुनिक काल

हम तुम युग युग से ये गीत मिलन का

आनंद बख़्शी

शृंगार रस | आधुनिक काल

हो काल गति से परे चिरंतन

कुमार विश्वास

शांत रस | आधुनिक काल

आज उनसे पहली मुलाक़ात होगी

आनंद बख़्शी

शृंगार रस | आधुनिक काल

मेरा देश बड़ा गर्वीला

गोपाल सिंह नेपाली

शांत रस | आधुनिक काल

बादल को घिरते देखा है

नागार्जुन

अद्भुत रस | आधुनिक काल

बताता जा रे अभिमानी

महादेवी वर्मा

शांत रस | आधुनिक काल

उठो लाल अब आँखे खोलो

द्वारिका प्रसाद माहेश्वरी

शांत रस | आधुनिक काल

कमल के फूल

भवानी प्रसाद मिश्र

शृंगार रस | आधुनिक काल

वंदन मेरे देश

सोम ठाकुर

अद्भुत रस | आधुनिक काल

विदा के बाद

सोम ठाकुर

शृंगार रस | आधुनिक काल

पूंजीवादी समाज के प्रति

गजानन माधव 'मुक्तिबोध'

अद्भुत रस | आधुनिक काल

कामना

अशोक चक्रधर

करुण रस | आधुनिक काल

हिमालय और हम

गोपाल सिंह नेपाली

अद्भुत रस | आधुनिक काल

असिधारा पथ

बालकृष्ण शर्मा 'नवीन'

वीर रस | आधुनिक काल

दूर से दूर तलक एक 

गोपालदास ‘नीरज’

अद्भुत रस | आधुनिक काल

मेरे जीवन की

गजानन माधव 'मुक्तिबोध'

अद्भुत रस | आधुनिक काल

मैं तुम्हें ढूंढने स्वर्ग के द्वार तक

कुमार विश्वास

शृंगार रस | आधुनिक काल

मैं तूफ़ानों मे चलने का आदी हूं

गोपालदास ‘नीरज’

वीर रस | आधुनिक काल

धरा को उठाओ

गोपालदास ‘नीरज’

वीर रस | आधुनिक काल

सूनी साँझ

शिवमंगल सिंह 'सुमन'

शृंगार रस | आधुनिक काल

आज हिमालय की चोटी से

प्रदीप

वीर रस | आधुनिक काल

त्राहि त्राहि कर उठता जीवन

हरिवंश राय बच्चन

करुण रस | आधुनिक काल

अश्रु यह पानी नहीं है

महादेवी वर्मा

अद्भुत रस | आधुनिक काल

हुस्न के लाखों रंग

आनंद बख़्शी

शृंगार रस | आधुनिक काल

ग़ज़ब है सुरम

भारतेंदु हरिश्चंद्र

अद्भुत रस | आधुनिक काल

गुलाबी चूड़ियाँ

नागार्जुन

करुण रस | आधुनिक काल

प्रार्थना की कड़ी

धर्मवीर भारती

शांत रस | आधुनिक काल

बाबुल तुम बगिया के तरुवर

गोपाल सिंह नेपाली

शांत रस | आधुनिक काल

मैं बढ़ा ही जा रहा हूँ 

शिवमंगल सिंह 'सुमन'

वीर रस | आधुनिक काल

मनोहर छटा

रामचंद्र शुक्ल

अद्भुत रस | आधुनिक काल

उठो धरा के अमर सपूतो 

द्वारिका प्रसाद माहेश्वरी

वीर रस | आधुनिक काल

अमृत और ज़हर दोनों हैं सागर में

प्रदीप

अद्भुत रस | आधुनिक काल

तुम रत्न-दीप की रूप-शिखा

नरेन्द्र शर्मा

शृंगार रस | आधुनिक काल

हमारा देश

सच्चिदानंद हीरानंद वात्स्यायन 'अज्ञेय'&

अद्भुत रस | आधुनिक काल

परवाह क्यों करें

सोम ठाकुर

अद्भुत रस | आधुनिक काल

क्षण भर को क्यों प्यार किया था?

हरिवंश राय बच्चन

शृंगार रस | आधुनिक काल

आज है, कल हुई

उर्मिलेश

शांत रस | आधुनिक काल

सहमते स्वर-2 

शिवमंगल सिंह 'सुमन'

अद्भुत रस | आधुनिक काल

आनेवाला कल 

रघुवीर सहाय

अद्भुत रस | आधुनिक काल

ऐसा हो जाता है

भवानी प्रसाद मिश्र

अद्भुत रस | आधुनिक काल

माता की मृत्यु पर

प्रभाकर माचवे

करुण रस | आधुनिक काल

कभी धूप तो कभी छाँव 

प्रदीप

शांत रस | आधुनिक काल

कैदी और कोकिला

माखनलाल चतुर्वेदी

भयानक रस | आधुनिक काल

अम्मू भाई

प्रभुदयाल श्रीवास्तव

अद्भुत रस | आधुनिक काल

जी उठे शायद शलभ इस आस में

गोपालदास ‘नीरज’

करुण रस | आधुनिक काल

कल और आज

गजानन माधव 'मुक्तिबोध'

अद्भुत रस | आधुनिक काल

फिर क्या होगा उसके बाद

बालकृष्ण राव

अद्भुत रस | आधुनिक काल

दे दी हमें आज़ादी

प्रदीप

अद्भुत रस | आधुनिक काल

पारदर्शी नील जल में

नामवर सिंह

शृंगार रस | आधुनिक काल

कलम या कि तलवार

रामधारी सिंह 'दिनकर'

वीर रस | आधुनिक काल

हम पंछी उन्मुक्त गगन के

शिवमंगल सिंह 'सुमन'

शांत रस | आधुनिक काल

जब यह दीप थके

महादेवी वर्मा

अद्भुत रस | आधुनिक काल

जब भी मुँह ढक लेता हूँ

कुमार विश्वास

शृंगार रस | आधुनिक काल

युगावतार गांधी

सोहनलाल द्विवेदी

अद्भुत रस | आधुनिक काल

ग्राम श्री

सुमित्रानंदन पंत

अद्भुत रस | आधुनिक काल

आशा और उद्योग

रामचंद्र शुक्ल

वीर रस | आधुनिक काल

सूरज के हस्ताक्षर हैं

सोम ठाकुर

अद्भुत रस | आधुनिक काल

मज़दूर

रामधारी सिंह 'दिनकर'

करुण रस | आधुनिक काल

अब तुम नौका लेकर आये

गुलाब खंडेलवाल

शांत रस | आधुनिक काल

साध

सुभद्राकुमारी चौहान

शृंगार रस | आधुनिक काल

प्रिय चिरंतन है सजनि

महादेवी वर्मा

शृंगार रस | आधुनिक काल

पानी और धूप

सुभद्राकुमारी चौहान

अद्भुत रस | आधुनिक काल

तुम्हारे चरण

धर्मवीर भारती

शृंगार रस | आधुनिक काल

जनतन्त्र का जन्म

रामधारी सिंह 'दिनकर'

वीर रस | आधुनिक काल

खिलौनेवाला

सुभद्राकुमारी चौहान

शांत रस | आधुनिक काल

गाली में गरिमा घोल-घोल

माखनलाल चतुर्वेदी

अद्भुत रस | आधुनिक काल

फागुनी शाम

नामवर सिंह

शांत रस | आधुनिक काल

पीले फूल कनेर के।

नरेश मेहता

शांत रस | आधुनिक काल

फ़िर उठा तलवार

रांगेय राघव

वीर रस | आधुनिक काल

नदी 

केदारनाथ सिंह

शांत रस | आधुनिक काल

वसंत

रामचंद्र शुक्ल

अद्भुत रस | आधुनिक काल

जब वर्षा शुरु होती है

केदारनाथ सिंह

अद्भुत रस | आधुनिक काल

स्वराज-स्वागत

श्रीधर पाठक

अद्भुत रस | आधुनिक काल

कलम, आज उनकी जय बोल

रामधारी सिंह 'दिनकर'

वीर रस | आधुनिक काल

जीवन, यह मौलिक महमानी

माखनलाल चतुर्वेदी

अद्भुत रस | आधुनिक काल

मधुर-मधुर मेरे दीपक जल

महादेवी वर्मा

शृंगार रस | आधुनिक काल

आज नदी बिलकुल उदास थी

केदारनाथ अग्रवाल

शांत रस | आधुनिक काल

जब ये जीवन फिर पायेंगे 

गुलाब खंडेलवाल

शांत रस | आधुनिक काल

शत-शत नमन

उर्मिलेश

वीर रस | आधुनिक काल

जब मैं तुम्हारी दया अंगीकार करता हूँ

रघुवीर सहाय

शृंगार रस | आधुनिक काल

मेरा नाम लिया जाएगा

गोपालदास ‘नीरज’

करुण रस | आधुनिक काल

वर्षा मंगल

नरेन्द्र शर्मा

शांत रस | आधुनिक काल

नींद उचट जाती है

नरेन्द्र शर्मा

अद्भुत रस | आधुनिक काल

ऋतुओं की संधि

सोम ठाकुर

शांत रस | आधुनिक काल

आदमी की गंध

त्रिलोचन

अद्भुत रस | आधुनिक काल

तीनों बन्दर बापू के

नागार्जुन

हास्य रस | आधुनिक काल

तुम तूफान समझ पाओगे

हरिवंश राय बच्चन

अद्भुत रस | आधुनिक काल

जागो फिर एक बार

सूर्यकांत त्रिपाठी ‘निराला’

अद्भुत रस | आधुनिक काल

मै ना भूलूँगा

संतोषानन्द

शृंगार रस | आधुनिक काल

महाराणा प्रताप

वियोगी हरि

वीर रस | आधुनिक काल

आने से उसके आये बहार

आनंद बख़्शी

शृंगार रस | आधुनिक काल

घूमें घनश्याम स्यामा-दामिनी लगाए अंक

गयाप्रसाद शुक्ल 'सनेही'

शृंगार रस | आधुनिक काल

दीवट(दीप पात्र) पर दीप

बालकवि बैरागी

अद्भुत रस | आधुनिक काल

दीपक अब रजनी जाती रे

महादेवी वर्मा

अद्भुत रस | आधुनिक काल

दो प्राण मिले

गोपाल सिंह नेपाली

शांत रस | आधुनिक काल

उदास तुम

धर्मवीर भारती

शृंगार रस | आधुनिक काल

आए महंत वसंत

सर्वेश्वर दयाल सक्सेना

अद्भुत रस | आधुनिक काल

अभी न जाओ प्राण

गोपालदास ‘नीरज’

शृंगार रस | आधुनिक काल

ज़िन्दगी

कुँअर बेचैन

करुण रस | आधुनिक काल

सत्य

नागार्जुन

हास्य रस | आधुनिक काल

सुंदर भारत

श्रीधर पाठक

अद्भुत रस | आधुनिक काल

अलि अब सपने की बात

महादेवी वर्मा

शांत रस | आधुनिक काल

तोड़ती पत्थर

सूर्यकांत त्रिपाठी ‘निराला’

करुण रस | आधुनिक काल

असमंजस

शिवमंगल सिंह 'सुमन'

शांत रस | आधुनिक काल

विदा लाडो

कुमार विश्वास

करुण रस | आधुनिक काल

तेरा साथ है तो

संतोषानन्द

अद्भुत रस | आधुनिक काल

वीर तुम बढ़े चलो

द्वारिका प्रसाद माहेश्वरी

वीर रस | आधुनिक काल

व्याल-विजय

रामधारी सिंह 'दिनकर'

अद्भुत रस | आधुनिक काल

कवि की बरसगाँठ

गोपाल सिंह नेपाली

शांत रस | आधुनिक काल

चाहिए मुझे मेरा असंग बबूल पन

गजानन माधव 'मुक्तिबोध'

अद्भुत रस | आधुनिक काल

मेरी कुंठा

दुष्यंत कुमार

शांत रस | आधुनिक काल

यह क्यों

दुष्यंत कुमार

अद्भुत रस | आधुनिक काल

कोशिश करने वालों की हार नहीं होती

सोहनलाल द्विवेदी

वीर रस | आधुनिक काल

वीर

रामधारी सिंह 'दिनकर'

वीर रस | आधुनिक काल

मेरा मन 

नरेन्द्र शर्मा

शांत रस | आधुनिक काल

चलना हमारा काम है

शिवमंगल सिंह 'सुमन'

अद्भुत रस | आधुनिक काल

अँखियों को रहने दो

आनंद बख़्शी

शृंगार रस | आधुनिक काल

झुकी कमान

चंद्रधर शर्मा 'गुलेरी'

वीर रस | आधुनिक काल

ज्योति पर्व : ज्योति वंदना

नरेन्द्र शर्मा

शांत रस | आधुनिक काल

कुरुक्षेत्र / द्वितीय सर्ग / भाग 5

रामधारी सिंह 'दिनकर'

वीर रस | आधुनिक काल

मेरे गीत, तुम्हारा स्वर हो

गुलाब खंडेलवाल

शृंगार रस | आधुनिक काल

मीठे बोल

सोहनलाल द्विवेदी

शांत रस | आधुनिक काल

गरमियों की शाम

बालकृष्ण राव

अद्भुत रस | आधुनिक काल

आँगन

धर्मवीर भारती

करुण रस | आधुनिक काल

क्या-क्या नहीं है मेरे पास

पाश

शांत रस | आधुनिक काल

हिंद-महिमा

श्रीधर पाठक

वीर रस | आधुनिक काल

आ रहे तुम बन कर मधुमास

गोपाल सिंह नेपाली

शृंगार रस | आधुनिक काल

हार गया तन-मन पुकार कर तुम्हें

कुमार विश्वास

शृंगार रस | आधुनिक काल

शक्ति और क्षमा 

रामधारी सिंह 'दिनकर'

वीर रस | आधुनिक काल

स्पष्टीकरण

त्रिलोचन

करुण रस | आधुनिक काल

भारत-पथिक

वृन्दावनलाल वर्मा

अद्भुत रस | आधुनिक काल

जय जयति भारत भारती

नरेन्द्र शर्मा

वीर रस | आधुनिक काल

भारतेन्दु हरिश्चंद्र

रामचंद्र शुक्ल

अद्भुत रस | आधुनिक काल

शासन चलता तलवार से

गोपाल सिंह नेपाली

वीर रस | आधुनिक काल

युगांतर

गोपाल सिंह नेपाली

वीर रस | आधुनिक काल

मैं कल रात नहीं रोया था

हरिवंश राय बच्चन

करुण रस | आधुनिक काल

आओ बच्चो तुम्हें दिखाएं

प्रदीप

अद्भुत रस | आधुनिक काल

मनुष्यता

रामधारी सिंह 'दिनकर'

वीभत्स रस | आधुनिक काल

आग है, पानी है, मिट्टी है, हवा है मुझमें

राजेश रेड्डी

शांत रस | आधुनिक काल

आज मौसम बड़ा बेईमान है

आनंद बख़्शी

शृंगार रस | आधुनिक काल

जब भी इस शहर में कमरे से मैं बाहर निकला

गोपालदास ‘नीरज’

करुण रस | आधुनिक काल

निज स्वदेश ही

श्रीधर पाठक

वीर रस | आधुनिक काल

हाथों के दिन

त्रिलोचन

अद्भुत रस | आधुनिक काल

आदमी मुसाफ़िर है

आनंद बख़्शी

शृंगार रस | आधुनिक काल

उनका हो जाता हूँ

त्रिलोचन

अद्भुत रस | आधुनिक काल

अ-परंपरित 

प्रभाकर माचवे

शांत रस | आधुनिक काल

बापू, तुम मुर्गी खाते यदि

सूर्यकांत त्रिपाठी ‘निराला’

अद्भुत रस | आधुनिक काल

तीर पर कैसे रुकूँ मैं आज लहरों में निमंत्रण!

हरिवंश राय बच्चन

शांत रस | आधुनिक काल

गंगा-वर्णन

भारतेंदु हरिश्चंद्र

अद्भुत रस | आधुनिक काल

वन्देमातरम

सुब्रह्मण्यम भारती

वीर रस | आधुनिक काल

ज़हर देता है कोई, कोई दवा देता है

नक्श लायलपुरी

शांत रस | आधुनिक काल

व्यर्थ गर्व

वियोगी हरि

अद्भुत रस | आधुनिक काल

एक तिनका

अयोध्या सिंह उपाध्याय ‘हरिऔध’

शांत रस | आधुनिक काल

सौगन्ध बापू

पाश

करुण रस | आधुनिक काल

बदला

प्रभुदयाल श्रीवास्तव

शांत रस | आधुनिक काल

उनके शब्द लहू के होते हैं

पाश

वीर रस | आधुनिक काल

बच्चे के जन्म पर

केदारनाथ अग्रवाल

अद्भुत रस | आधुनिक काल

मुसकुराती रही कामना

गोपाल सिंह नेपाली

शांत रस | आधुनिक काल

अंधियार ढल कर ही रहेगा

गोपालदास ‘नीरज’

वीर रस | आधुनिक काल

साल मुबारक

कुमार विश्वास

अद्भुत रस | आधुनिक काल

सोख न लेना पानी !

कुँअर बेचैन

अद्भुत रस | आधुनिक काल

बदनाम रहे बटमार

गोपाल सिंह नेपाली

अद्भुत रस | आधुनिक काल

बहुत दिनों से

गजानन माधव 'मुक्तिबोध'

अद्भुत रस | आधुनिक काल

कविता क्या है

प्रभाकर माचवे

शांत रस | आधुनिक काल

कहानी कांग्रेस की

हरिओम पंवार

वीर रस | आधुनिक काल

मृत्यु और कवि

गजानन माधव 'मुक्तिबोध'

अद्भुत रस | आधुनिक काल

उलझी हुई रातें मिलीं

सोम ठाकुर

शृंगार रस | आधुनिक काल

निरख सखी ये खंजन आए

मैथिलीशरण गुप्त

अद्भुत रस | आधुनिक काल

दुनिया का सपना 

त्रिलोचन

अद्भुत रस | आधुनिक काल

क्या तकल्लुफ करे ये कहने में

जॉन एलिया

शांत रस | आधुनिक काल

जो कुटिलता से जियेंगे

बालकवि बैरागी

अद्भुत रस | आधुनिक काल

होठों पर गंगा हो, हाथों में तिरंगा हो

कुमार विश्वास

वीर रस | आधुनिक काल

जग-जीवन में जो चिर महान

सुमित्रानंदन पंत

शांत रस | आधुनिक काल

नया आदमी

अशोक चक्रधर

हास्य रस | आधुनिक काल

पत्र तुम्हारे नाम

सोम ठाकुर

शृंगार रस | आधुनिक काल

गीता हूँ कुरान हूँ मैं

राजेश रेड्डी

शांत रस | आधुनिक काल

फूट

रामचंद्र शुक्ल

अद्भुत रस | आधुनिक काल

ध्वज-वंदना

रामधारी सिंह 'दिनकर'

अद्भुत रस | आधुनिक काल

मैं सुमन हूँ

द्वारिका प्रसाद माहेश्वरी

शांत रस | आधुनिक काल

मैं घास हूँ

पाश

अद्भुत रस | आधुनिक काल

क्या किया आज तक क्या पाया

हरिशंकर परसाई

अद्भुत रस | आधुनिक काल

मँह-मँह बेल कचेलियाँ

नामवर सिंह

शांत रस | आधुनिक काल

नभ के नीले सूनेपन में

नामवर सिंह

करुण रस | आधुनिक काल

अंतिम बूँद बची मधु को अब

गोपालदास ‘नीरज’

शांत रस | आधुनिक काल

डायन सरकार

रांगेय राघव

भयानक रस | आधुनिक काल

आज मदहोश हुआ जाए रे

गोपालदास ‘नीरज’

शृंगार रस | आधुनिक काल

बालविनय

रामचंद्र शुक्ल

शांत रस | आधुनिक काल

कुंजी

रामधारी सिंह 'दिनकर'

शांत रस | आधुनिक काल

मेरा कुछ सामान

गुलज़ार

शांत रस | आधुनिक काल

पिया चली फगनौटी

रांगेय राघव

शृंगार रस | आधुनिक काल

बेचैन चील

गजानन माधव 'मुक्तिबोध'

अद्भुत रस | आधुनिक काल

परदे हटा के देखो

अशोक चक्रधर

शांत रस | आधुनिक काल

उपलब्धि

धर्मवीर भारती

अद्भुत रस | आधुनिक काल

शासन की बंदूक 
 

नागार्जुन

वीभत्स रस | आधुनिक काल

ओढ़ आए हम

सोम ठाकुर

शांत रस | आधुनिक काल

गधे से सस्ता

प्रभुदयाल श्रीवास्तव

अद्भुत रस | आधुनिक काल

अर्जुन की प्रतिज्ञा

मैथिलीशरण गुप्त

वीर रस | आधुनिक काल

मेरे नयना भये चकोर

भारतेंदु हरिश्चंद्र

शृंगार रस | आधुनिक काल

गीत-अगीत 

रामधारी सिंह 'दिनकर'

अद्भुत रस | आधुनिक काल

अपनी गंध नहीं बेचूंगा

बालकवि बैरागी

वीर रस | आधुनिक काल

अग्निबीज

नागार्जुन

अद्भुत रस | आधुनिक काल

एक विलुप्त कविता

रामधारी सिंह 'दिनकर'

अद्भुत रस | आधुनिक काल

पथ देख बिता दी रैन

महादेवी वर्मा

शृंगार रस | आधुनिक काल

दिल्ली

रामधारी सिंह 'दिनकर'

करुण रस | आधुनिक काल

प्रार्थना बनी रही

गोपाल सिंह नेपाली

करुण रस | आधुनिक काल

सजनि कौन तम में परिचित सा

महादेवी वर्मा

शृंगार रस | आधुनिक काल

इमर्जेंसी

फणीश्वर नाथ रेणु

वीभत्स रस | आधुनिक काल

सुभाष चन्द्र बोस

गोपालप्रसाद व्यास

वीर रस | आधुनिक काल

क्षोभ के त्योहार

सोम ठाकुर

शांत रस | आधुनिक काल

मधुपुर के घनश्याम अगर

गोपालदास ‘नीरज’

शृंगार रस | आधुनिक काल

हम लड़ेंगे साथी

पाश

वीर रस | आधुनिक काल

शलभ मैं शपमय वर हूँ

महादेवी वर्मा

शृंगार रस | आधुनिक काल

क्या जलने की रीति शलभ

महादेवी वर्मा

अद्भुत रस | आधुनिक काल

मुझे कदम-कदम पर

गजानन माधव 'मुक्तिबोध'

शांत रस | आधुनिक काल

घन गरजे

बालकृष्ण शर्मा 'नवीन'

शृंगार रस | आधुनिक काल

यह दिया बुझे नहीं

गोपाल सिंह नेपाली

वीर रस | आधुनिक काल

तुम्हें मैं प्यार नहीं दे पाऊँगा

कुमार विश्वास

शृंगार रस | आधुनिक काल

आशा का दीपक

रामधारी सिंह 'दिनकर'

वीर रस | आधुनिक काल

किसी को क्या पता था

दुष्यंत कुमार

अद्भुत रस | आधुनिक काल

भीत्ति नहीं है कोई

गुलाब खंडेलवाल

शांत रस | आधुनिक काल

गीत गाने दो मुझे

सूर्यकांत त्रिपाठी ‘निराला’

वीर रस | आधुनिक काल

सहमते स्वर-1

शिवमंगल सिंह 'सुमन'

शांत रस | आधुनिक काल

उनको प्रणाम

नागार्जुन

शांत रस | आधुनिक काल

दलित जन पर करो करुणा

सूर्यकांत त्रिपाठी ‘निराला’

करुण रस | आधुनिक काल

मधुमय स्वप्न रंगीले

बालकृष्ण शर्मा 'नवीन'

अद्भुत रस | आधुनिक काल

यह धरती कितना देती है

सुमित्रानंदन पंत

अद्भुत रस | आधुनिक काल

प्राणों का गान

त्रिलोचन

अद्भुत रस | आधुनिक काल

यही मैं हूँ

रघुवीर सहाय

शांत रस | आधुनिक काल

जगत के कुचले हुए पथ पर

हरिशंकर परसाई

वीर रस | आधुनिक काल

पत्र

प्रभुदयाल श्रीवास्तव

शांत रस | आधुनिक काल

साजन! होली आई है!

फणीश्वर नाथ रेणु

शृंगार रस | आधुनिक काल

लहरों का गीत

सुमित्रानंदन पंत

शांत रस | आधुनिक काल

घाटी के दिल की धड़कन

हरिओम पंवार

वीर रस | आधुनिक काल

कदंब का पेड़

सुभद्राकुमारी चौहान

अद्भुत रस | आधुनिक काल

साँस के प्रश्नचिन्हों, लिखी स्वर-कथा

माखनलाल चतुर्वेदी

अद्भुत रस | आधुनिक काल

विवशता

शिवमंगल सिंह 'सुमन'

शांत रस | आधुनिक काल

आत्‍मकथ्‍य

जयशंकर प्रसाद

शांत रस | आधुनिक काल

अंतर

कुँअर बेचैन

अद्भुत रस | आधुनिक काल

उत्साह

सूर्यकांत त्रिपाठी ‘निराला’

अद्भुत रस | आधुनिक काल

सुख-दुख

नरेन्द्र शर्मा

अद्भुत रस | आधुनिक काल

जो बीत गई सो बात गयी

हरिवंश राय बच्चन

शांत रस | आधुनिक काल

पंचतात्विक राष्ट्र-वंदना 

सोम ठाकुर

वीर रस | आधुनिक काल

हो गई है पीर पर्वत-सी

दुष्यंत कुमार

वीर रस | आधुनिक काल

तन की हवस

गोपालदास ‘नीरज’

वीभत्स रस | आधुनिक काल

मैं जो हूँ

भवानी प्रसाद मिश्र

अद्भुत रस | आधुनिक काल

चारु चंद्र की चंचल किरणें

मैथिलीशरण गुप्त

शृंगार रस | आधुनिक काल

एक आँसू गिरा सोचते-सोचते

नक्श लायलपुरी

शृंगार रस | आधुनिक काल

सारा बदन हयात की ख़ुशबू से भर गया

आलोक श्रीवास्तव

शृंगार रस | आधुनिक काल

जब आग लगे

रामधारी सिंह 'दिनकर'

अद्भुत रस | आधुनिक काल

मैं हूँ प्रेम रोगी

संतोषानन्द

शृंगार रस | आधुनिक काल

चंचल पवन प्राणमय बंधन

त्रिलोचन

शांत रस | आधुनिक काल

काशी के घाट पर

प्रभाकर माचवे

शांत रस | आधुनिक काल

जाओ कल्पित साथी मन के

हरिवंश राय बच्चन

अद्भुत रस | आधुनिक काल

मैं नहीं आया तुम्हारे द्वार

शिवमंगल सिंह 'सुमन'

शृंगार रस | आधुनिक काल

रंगों के बोल 

सोम ठाकुर

शांत रस | आधुनिक काल

आधी रात बीत गई

प्रभुदयाल श्रीवास्तव

अद्भुत रस | आधुनिक काल

समय के समर्थ अश्व

माखनलाल चतुर्वेदी

वीर रस | आधुनिक काल

ओ मेघा रे

संतोषानन्द

शांत रस | आधुनिक काल

कुरुक्षेत्र / प्रथम सर्ग / भाग 1

रामधारी सिंह 'दिनकर'

वीर रस | आधुनिक काल

मिटने क अधिकार

महादेवी वर्मा

शांत रस | आधुनिक काल

शिशिर न फिर गिरि वन में

मैथिलीशरण गुप्त

शांत रस | आधुनिक काल

सारा देश हमारा

बालकवि बैरागी

वीर रस | आधुनिक काल

है कश्मीर धरती पे जन्नत का मंज़र

आलोक श्रीवास्तव

अद्भुत रस | आधुनिक काल

सूर्य

अशोक वाजपेयी

शांत रस | आधुनिक काल

मेरा सजल मुख देख लेते

महादेवी वर्मा

शृंगार रस | आधुनिक काल

आज पानी गिर रहा है

भवानी प्रसाद मिश्र

अद्भुत रस | आधुनिक काल

कोई नहीं सुनता 

अशोक वाजपेयी

शांत रस | आधुनिक काल

दोनों ही पक्ष आए हैं

कुँअर बेचैन

वीर रस | आधुनिक काल

मौन ही मुखर है

विष्णु प्रभाकर

अद्भुत रस | आधुनिक काल

देशद्रोही की दुत्कार

रामचंद्र शुक्ल

वीभत्स रस | आधुनिक काल

सूर्यमुखी फूल

सोम ठाकुर

शांत रस | आधुनिक काल

बिना सूई की घड़ियाँ

द्वारिका प्रसाद माहेश्वरी

शांत रस | आधुनिक काल

मंगल-कलश नामंजूर

सोम ठाकुर

अद्भुत रस | आधुनिक काल

आनेवाला खतरा

रघुवीर सहाय

अद्भुत रस | आधुनिक काल

अजब था उसकी दिलज़ारी का अन्दाज़ 

जॉन एलिया

शृंगार रस | आधुनिक काल

हम हैं सूरज-चाँद-सितारे

द्वारिका प्रसाद माहेश्वरी

शांत रस | आधुनिक काल

कनबहरे

केदारनाथ अग्रवाल

करुण रस | आधुनिक काल

तारे चमके, तुम भी चमको

गोपाल सिंह नेपाली

शृंगार रस | आधुनिक काल

हमारा पतन

अयोध्या सिंह उपाध्याय ‘हरिऔध’

करुण रस | आधुनिक काल

पक गई हैं आदतें

दुष्यंत कुमार

वीर रस | आधुनिक काल

समर शेष है

रामधारी सिंह 'दिनकर'

वीर रस | आधुनिक काल

मैंने रात चैन से काटी

गुलाब खंडेलवाल

शांत रस | आधुनिक काल

फागुन का गीत

केदारनाथ सिंह

शांत रस | आधुनिक काल

रोज़ ख़्वाबों में आ के चल दूँगा

आलोक श्रीवास्तव

शृंगार रस | आधुनिक काल

सपने 

पाश

अद्भुत रस | आधुनिक काल

प्रतीक्षा

सुभद्राकुमारी चौहान

शांत रस | आधुनिक काल

दीप मेरे जल अकम्पित

महादेवी वर्मा

अद्भुत रस | आधुनिक काल

एक बूँद

अयोध्या सिंह उपाध्याय ‘हरिऔध’

शांत रस | आधुनिक काल

इतिहास और प्रतिइतिहास

नरेश मेहता

अद्भुत रस | आधुनिक काल

अरुण यह मधुमय देश हमारा

जयशंकर प्रसाद

अद्भुत रस | आधुनिक काल

आदमी

कुँअर बेचैन

शांत रस | आधुनिक काल

वेला हुई संवत्सरा

सोम ठाकुर

शृंगार रस | आधुनिक काल

क्यों जीता हूँ 

हरिवंश राय बच्चन

शांत रस | आधुनिक काल

मेरे भारत की माटी है चन्‍दन और अबीर

सोम ठाकुर

वीर रस | आधुनिक काल

रात आधी खींच कर मेरी हथेली

हरिवंश राय बच्चन

शृंगार रस | आधुनिक काल

जाने कौन नगर ठहरेंगे

कुमार विश्वास

शांत रस | आधुनिक काल

कुरुक्षेत्र / प्रथम सर्ग / भाग 2

रामधारी सिंह 'दिनकर'

वीर रस | आधुनिक काल

आत्मालोचन

त्रिलोचन

शांत रस | आधुनिक काल

गुनह करेंगे

अशोक चक्रधर

शांत रस | आधुनिक काल

हम धुएँ में जब ज़रा उतरे, धुआँ खुलने लगा

राजेश रेड्डी

शांत रस | आधुनिक काल

दुनिया का इतिहास पूछता

अटल बिहारी वाजपेयी

वीर रस | आधुनिक काल

कुरुक्षेत्र / तृतीय सर्ग / भाग 5

रामधारी सिंह 'दिनकर'

वीर रस | आधुनिक काल

वह चिड़िया जो 

केदारनाथ अग्रवाल

शांत रस | आधुनिक काल

गुणगान

मैथिलीशरण गुप्त

अद्भुत रस | आधुनिक काल

धन्य सुरेन्द्र

प्रतापनारायण मिश्र

वीर रस | आधुनिक काल

वर्षा ने आज विदाई ली

माखनलाल चतुर्वेदी

शांत रस | आधुनिक काल

हमारे लहू को आदत है

पाश

अद्भुत रस | आधुनिक काल

जय राष्ट्रीय निशान

सोहनलाल द्विवेदी

वीर रस | आधुनिक काल

कितने पेन गुमाते भैया

प्रभुदयाल श्रीवास्तव

अद्भुत रस | आधुनिक काल

इतने मत उन्‍मत्‍त बनो 

हरिवंश राय बच्चन

अद्भुत रस | आधुनिक काल

छाया मत छूना

गिरिजाकुमार माथुर

शांत रस | आधुनिक काल

रोको मत

गुलज़ार

अद्भुत रस | आधुनिक काल

ब्रज के लता पता मोहिं कीजै

भारतेंदु हरिश्चंद्र

शृंगार रस | आधुनिक काल

वरदान माँगूँगा नहीं

शिवमंगल सिंह 'सुमन'

वीर रस | आधुनिक काल

चल ततइया !!

कुँअर बेचैन

अद्भुत रस | आधुनिक काल

वायु के प्रति

सुमित्रानंदन पंत

शांत रस | आधुनिक काल

मेरे गीत बड़े हरियाले

नरेन्द्र शर्मा

अद्भुत रस | आधुनिक काल

पलाश

नरेन्द्र शर्मा

शांत रस | आधुनिक काल

सिक्के की औक़ात 

अशोक चक्रधर

हास्य रस | आधुनिक काल

एक ज़रा सा बच्चा

प्रभुदयाल श्रीवास्तव

अद्भुत रस | आधुनिक काल

पानी में घिरे हुए लोग

केदारनाथ सिंह

शांत रस | आधुनिक काल

मेरी भी आभा है इसमें

नागार्जुन

वीर रस | आधुनिक काल

लौ लगाती गीत गाती

नरेन्द्र शर्मा

शृंगार रस | आधुनिक काल

भाई - बहन

गोपाल सिंह नेपाली

शांत रस | आधुनिक काल

विश्वास करना चाहता हूँ

अशोक वाजपेयी

शांत रस | आधुनिक काल

तितली से

महादेवी वर्मा

शांत रस | आधुनिक काल

उठ किसान ओ

त्रिलोचन

अद्भुत रस | आधुनिक काल

नारी गही बैद सोऊ बेनि गो अनारी सखि

गयाप्रसाद शुक्ल 'सनेही'

शृंगार रस | आधुनिक काल

नवम्बर की दोपहर

धर्मवीर भारती

शांत रस | आधुनिक काल

कापालिक

प्रभाकर माचवे

अद्भुत रस | आधुनिक काल

गन्ने मेरे भाई!

बालकवि बैरागी

करुण रस | आधुनिक काल

अकाल और उसके बाद

नागार्जुन

करुण रस | आधुनिक काल

चल रही उसकी कुदाली

शिवमंगल सिंह 'सुमन'

अद्भुत रस | आधुनिक काल

नेह के सन्दर्भ बौने हो गए होंगे मगर

कुमार विश्वास

शृंगार रस | आधुनिक काल

तू पढ़ती है मेरी पुस्तक

गोपाल सिंह नेपाली

शृंगार रस | आधुनिक काल

घंटा

सुमित्रानंदन पंत

अद्भुत रस | आधुनिक काल

जीवन जहाँ 

गोपालदास ‘नीरज’

अद्भुत रस | आधुनिक काल

जगमग जगमग

सोहनलाल द्विवेदी

अद्भुत रस | आधुनिक काल

नारी

गोपालदास ‘नीरज’

शांत रस | आधुनिक काल

सुभाष की मृत्यु पर

धर्मवीर भारती

करुण रस | आधुनिक काल

रूप तुम्हारा

सोम ठाकुर

शृंगार रस | आधुनिक काल

पूर्वा पर

सोम ठाकुर

अद्भुत रस | आधुनिक काल

कुरुक्षेत्र / तृतीय सर्ग / भाग 4

रामधारी सिंह 'दिनकर'

वीर रस | आधुनिक काल

वसंतागम

प्रभाकर माचवे

शांत रस | आधुनिक काल

अपनी असुरक्षा से

पाश

भयानक रस | आधुनिक काल

हमने जग की

प्रदीप

करुण रस | आधुनिक काल

स्वदेश-विज्ञान

श्रीधर पाठक

वीर रस | आधुनिक काल

इतने ऊँचे उठो कि जितना उठा गगन है

द्वारिका प्रसाद माहेश्वरी

अद्भुत रस | आधुनिक काल

पावन प्रतिज्ञा

गयाप्रसाद शुक्ल 'सनेही'

अद्भुत रस | आधुनिक काल

एक बौछार था वो शख्स

गुलज़ार

करुण रस | आधुनिक काल

बोल तो किसके लिए मैं

माखनलाल चतुर्वेदी

अद्भुत रस | आधुनिक काल

कुरुक्षेत्र / द्वितीय सर्ग / भाग 1

रामधारी सिंह 'दिनकर'

वीर रस | आधुनिक काल

तुम्हारा फ़ोन आया है

कुमार विश्वास

करुण रस | आधुनिक काल

भारत

पाश

रौद्र रस | आधुनिक काल

अब के सजन सावन में 

आनंद बख़्शी

शृंगार रस | आधुनिक काल

नई उमरिया प्यासी है

बालकृष्ण शर्मा 'नवीन'

शृंगार रस | आधुनिक काल

तमिस्रा हुई गगन में लीन 

वृन्दावनलाल वर्मा

अद्भुत रस | आधुनिक काल

शहीद की माँ

हरिवंश राय बच्चन

करुण रस | आधुनिक काल

हाय-हाय ये मज़बूरी

संतोषानन्द

शृंगार रस | आधुनिक काल

जाने किस जीवन की सुधि ले

महादेवी वर्मा

शांत रस | आधुनिक काल

सरिता

गोपाल सिंह नेपाली

अद्भुत रस | आधुनिक काल

उधर परिन्दे को जब आसमान खींचता है ।

राजेश रेड्डी

अद्भुत रस | आधुनिक काल

मौसम के गाँव 

कुमार विश्वास

शृंगार रस | आधुनिक काल

मधु के दिन मेरे गए बीत

नरेन्द्र शर्मा

शृंगार रस | आधुनिक काल

भारत महिमा

जयशंकर प्रसाद

अद्भुत रस | आधुनिक काल

मैना

केदारनाथ अग्रवाल

शांत रस | आधुनिक काल

सुंदरियो

फणीश्वर नाथ रेणु

शांत रस | आधुनिक काल

एकांत में यशोधरा

मैथिलीशरण गुप्त

करुण रस | आधुनिक काल

परम्परा

रामधारी सिंह 'दिनकर'

शांत रस | आधुनिक काल

अगर चाँद मर जाता

त्रिलोचन

शांत रस | आधुनिक काल

मेमने ने देखे जब गैया के आंसू

अशोक चक्रधर

अद्भुत रस | आधुनिक काल

तिमिर ढलेगा

गोपालदास ‘नीरज’

वीर रस | आधुनिक काल

चौपाटी का सूर्यास्त

गोपाल सिंह नेपाली

अद्भुत रस | आधुनिक काल

मधुर! बादल, और बादल, और बादल

माखनलाल चतुर्वेदी

अद्भुत रस | आधुनिक काल

बागी हैं हम इन्कलाब के गीत सुनाते जायेंगे

हरिओम पंवार

वीर रस | आधुनिक काल

अन्दाज़

भवानी प्रसाद मिश्र

अद्भुत रस | आधुनिक काल

जब दुपहरी ज़िन्दगी पर

गजानन माधव 'मुक्तिबोध'

अद्भुत रस | आधुनिक काल

सब का अपना आकाश

त्रिलोचन

शांत रस | आधुनिक काल

यहाँ थी वह नदी

मंगलेश डबराल

शांत रस | आधुनिक काल

कोयल

गयाप्रसाद शुक्ल 'सनेही'

शांत रस | आधुनिक काल

चाँदनी उछालता गुलाब

सोम ठाकुर

शांत रस | आधुनिक काल

अब तो स्वरमय प्राण हमारे

गुलाब खंडेलवाल

शांत रस | आधुनिक काल

माँ के ठाकुर जी भोले हैं

महादेवी वर्मा

शांत रस | आधुनिक काल

चलो हम दोनों चलें वहां

नरेन्द्र शर्मा

अद्भुत रस | आधुनिक काल

खिडकी पर आंख लगी

सोम ठाकुर

अद्भुत रस | आधुनिक काल

उनकी ख़ैरो-ख़बर नहीं मिलती

कुमार विश्वास

शृंगार रस | आधुनिक काल

मातृ वंदना

सुमित्रानंदन पंत

शांत रस | आधुनिक काल

धुंधुवाता अलाव

नामवर सिंह

अद्भुत रस | आधुनिक काल

दुःखी मत हो

कुमार विश्वास

करुण रस | आधुनिक काल

अपने रँग में मुझे रँगा दो 

गुलाब खंडेलवाल

शांत रस | आधुनिक काल

न आने की आहट

गुलज़ार

शृंगार रस | आधुनिक काल

कुरुक्षेत्र / द्वितीय सर्ग / भाग 3

रामधारी सिंह 'दिनकर'

वीर रस | आधुनिक काल

अब तुम्हारा प्यार भी मुझको नहीं स्वीकार

गोपालदास ‘नीरज’

शृंगार रस | आधुनिक काल

किसी ने ग़म को कुछ समझा

राजेश रेड्डी

शांत रस | आधुनिक काल

मात देना नहीं जानतीं

केदारनाथ अग्रवाल

करुण रस | आधुनिक काल

यह लघु सरिता का बहता जल

गोपाल सिंह नेपाली

शांत रस | आधुनिक काल

मेह की झड़ी लगी 

बालकृष्ण शर्मा 'नवीन'

अद्भुत रस | आधुनिक काल

कभी कभी खुद से बात करो

प्रदीप

अद्भुत रस | आधुनिक काल

खेलूँगी कभी न होली

सूर्यकांत त्रिपाठी ‘निराला’

अद्भुत रस | आधुनिक काल

कुरुक्षेत्र / तृतीय सर्ग / भाग 1

रामधारी सिंह 'दिनकर'

वीर रस | आधुनिक काल

कुछ काले कोट कचहरी के

कुँअर बेचैन

अद्भुत रस | आधुनिक काल

इन हसीन वादियों से 

संतोषानन्द

शृंगार रस | आधुनिक काल

कितनी अतृप्ति है

गोपालदास ‘नीरज’

शांत रस | आधुनिक काल

प्रक्रिया

केदारनाथ सिंह

शांत रस | आधुनिक काल

विप्लव गायन 

बालकृष्ण शर्मा 'नवीन'

रौद्र रस | आधुनिक काल

हंस माला चल

नरेन्द्र शर्मा

शांत रस | आधुनिक काल

मैं तो झोंका हूँ

कुमार विश्वास

शृंगार रस | आधुनिक काल

ऐ मेरे वतन के लोगों

प्रदीप

करुण रस | आधुनिक काल

मुझको तोड़ा है

सोम ठाकुर

अद्भुत रस | आधुनिक काल

ऐसे हैं सुख सपन हमारे

नरेन्द्र शर्मा

अद्भुत रस | आधुनिक काल

खोल दूं यह आज का दिन

केदारनाथ सिंह

शांत रस | आधुनिक काल

बादल बरसै मूसलधार

प्रभाकर माचवे

अद्भुत रस | आधुनिक काल

उर तिमिरमय घर तिमिरमय

महादेवी वर्मा

शृंगार रस | आधुनिक काल

भिक्षा

बालकृष्ण शर्मा 'नवीन'

शृंगार रस | आधुनिक काल

अभी न होगा मेरा अन्त

सूर्यकांत त्रिपाठी ‘निराला’

वीर रस | आधुनिक काल

पर्वतारोही

रामधारी सिंह 'दिनकर'

अद्भुत रस | आधुनिक काल

नयनों के डोरे लाल-गुलाल भरे

सूर्यकांत त्रिपाठी ‘निराला’

शृंगार रस | आधुनिक काल

इसीलिए तो नगर -नगर

गोपालदास ‘नीरज’

अद्भुत रस | आधुनिक काल

वे मधु दिन

महादेवी वर्मा

शृंगार रस | आधुनिक काल

कुरुक्षेत्र / तृतीय सर्ग / भाग 3

रामधारी सिंह 'दिनकर'

वीर रस | आधुनिक काल

मुकरियाँ 

भारतेंदु हरिश्चंद्र

हास्य रस | आधुनिक काल

बात की बात

शिवमंगल सिंह 'सुमन'

करुण रस | आधुनिक काल

रोटी और स्वाधीनता

रामधारी सिंह 'दिनकर'

अद्भुत रस | आधुनिक काल

साज नहीं सजता है

गुलाब खंडेलवाल

अद्भुत रस | आधुनिक काल

मैं दुनिया की हक़ीकत जानता हूँ

नक्श लायलपुरी

शांत रस | आधुनिक काल

पूछता क्यों शेष कितनी रात

महादेवी वर्मा

शृंगार रस | आधुनिक काल

चेतक की वीरता 

श्यामनारायण पाण्डेय

वीर रस | आधुनिक काल

त्रिलोचन चलता रहा

त्रिलोचन

करुण रस | आधुनिक काल

लोहे के पेड़ हरे होंगे 

रामधारी सिंह 'दिनकर'

वीर रस | आधुनिक काल

अट नहीं रही है

सूर्यकांत त्रिपाठी ‘निराला’

अद्भुत रस | आधुनिक काल

अपनी भीगी हुई पलकों पे सजा लो मुझको

नक्श लायलपुरी

शृंगार रस | आधुनिक काल

रानी दुर्गावती

रामचंद्र शुक्ल

वीर रस | आधुनिक काल

प्रयाग

नरेन्द्र शर्मा

अद्भुत रस | आधुनिक काल

रात सुन ली थी तान तुम्हारी 

गुलाब खंडेलवाल

शांत रस | आधुनिक काल

क्या इनका कोई अर्थ नहीं

धर्मवीर भारती

अद्भुत रस | आधुनिक काल

अरे तुम हो काल के भी काल

बालकृष्ण शर्मा 'नवीन'

वीर रस | आधुनिक काल

केवल मन के चाहे से ही

द्वारिका प्रसाद माहेश्वरी

शांत रस | आधुनिक काल

आओ, प्यारे तारो आओ

महादेवी वर्मा

अद्भुत रस | आधुनिक काल

भीख माँगते उसी त्रिलोचन को देखा कल

त्रिलोचन

करुण रस | आधुनिक काल

तुम आग पर चलो

गोपाल सिंह नेपाली

वीर रस | आधुनिक काल

अभेद का भेद

अयोध्या सिंह उपाध्याय ‘हरिऔध’

शांत रस | आधुनिक काल

भूल-ग़लती

गजानन माधव 'मुक्तिबोध'

अद्भुत रस | आधुनिक काल

देशोद्धारकों से

प्रभाकर माचवे

शांत रस | आधुनिक काल

बोआई का गीत

धर्मवीर भारती

अद्भुत रस | आधुनिक काल

लौट आ रे !

कुँअर बेचैन

अद्भुत रस | आधुनिक काल

मेरी भाषा के लोग

केदारनाथ सिंह

शांत रस | आधुनिक काल

वीरांगना 

केदारनाथ अग्रवाल

वीर रस | आधुनिक काल

जाड़े की साँझ

माखनलाल चतुर्वेदी

शांत रस | आधुनिक काल

कभी जब याद आ जाते

नामवर सिंह

शृंगार रस | आधुनिक काल

है बहुत अंधियार अब सूरज निकलना चाहिये

गोपालदास ‘नीरज’

वीर रस | आधुनिक काल

अग्निपथ

हरिवंश राय बच्चन

वीर रस | आधुनिक काल

आई कुल्फी

प्रभुदयाल श्रीवास्तव

अद्भुत रस | आधुनिक काल

ओस की बूंद कहती है

केदारनाथ अग्रवाल

शांत रस | आधुनिक काल

हम और सड़कें 

केदारनाथ अग्रवाल

अद्भुत रस | आधुनिक काल

विनती

रामचंद्र शुक्ल

अद्भुत रस | आधुनिक काल

जिसकी धुन पर दुनिया नाचे

कुमार विश्वास

शृंगार रस | आधुनिक काल

केवल हिम

नरेश मेहता

अद्भुत रस | आधुनिक काल

माया 

नरेन्द्र शर्मा

अद्भुत रस | आधुनिक काल

तो क्या यहीं? 

अशोक चक्रधर

हास्य रस | आधुनिक काल

मिट्टी की महिमा 

शिवमंगल सिंह 'सुमन'

अद्भुत रस | आधुनिक काल

गरीब का सलाम ले

गोपाल सिंह नेपाली

वीर रस | आधुनिक काल

वर दे वीणावादिनी वर दे

सूर्यकांत त्रिपाठी ‘निराला’

शांत रस | आधुनिक काल

बुनाई का गीत

केदारनाथ सिंह

शांत रस | आधुनिक काल

आगे चले चलो।

वृन्दावनलाल वर्मा

अद्भुत रस | आधुनिक काल

रात, चलते हैं अकेले ही सितारे

गजानन माधव 'मुक्तिबोध'

अद्भुत रस | आधुनिक काल

मेरी क़िस्मत में तू नहीं शायद

संतोषानन्द

शृंगार रस | आधुनिक काल

परदे में क़ैद औरत की गुहार

भारतेंदु हरिश्चंद्र

अद्भुत रस | आधुनिक काल

प्रीतो

कुमार विश्वास

शृंगार रस | आधुनिक काल

विद्रोह

केदारनाथ सिंह

अद्भुत रस | आधुनिक काल

मेरे देश के लाल

बालकवि बैरागी

वीर रस | आधुनिक काल

हम तो काँटे ही चुनते हैं

गुलाब खंडेलवाल

अद्भुत रस | आधुनिक काल

वह एक

प्रभाकर माचवे

करुण रस | आधुनिक काल

जंगल उगने लगे

सोम ठाकुर

अद्भुत रस | आधुनिक काल

जी ही जी में

जॉन एलिया

शांत रस | आधुनिक काल

फटा ट्वीड का नया कोट

नरेन्द्र शर्मा

शृंगार रस | आधुनिक काल

उसके पहलू से लग के चलते हैं

जॉन एलिया

शृंगार रस | आधुनिक काल

मैं पीड़ा का राजकुँवर हूँ

गोपालदास ‘नीरज’

शृंगार रस | आधुनिक काल

जलाओ दिए पर रहे ध्यान इतना

गोपालदास ‘नीरज’

शांत रस | आधुनिक काल

भूल गए

राजेश रेड्डी

अद्भुत रस | आधुनिक काल

तुमको तो करोड़ो साल हुए

प्रदीप

अद्भुत रस | आधुनिक काल

दुख के मुका़बिल खड़े हुए हैं

राजेश रेड्डी

शांत रस | आधुनिक काल

रंग दुनिया ने दिखाया है निराला, देखूँ

कुमार विश्वास

शृंगार रस | आधुनिक काल

नववर्ष

सोहनलाल द्विवेदी

शांत रस | आधुनिक काल

किसान

गयाप्रसाद शुक्ल 'सनेही'

शांत रस | आधुनिक काल

जलियाँवाला बाग में बसंत

सुभद्राकुमारी चौहान

वीभत्स रस | आधुनिक काल

विदा देती एक दुबली बाँह

धर्मवीर भारती

करुण रस | आधुनिक काल

सूरज के घोड़े

वृन्दावनलाल वर्मा

अद्भुत रस | आधुनिक काल

क्या सोचें समझें हम

सोम ठाकुर

शांत रस | आधुनिक काल

आभार

शिवमंगल सिंह 'सुमन'

शांत रस | आधुनिक काल

हम तो अलबेले मज़दूर

प्रदीप

शांत रस | आधुनिक काल

आते जाते खूबसूरत आवारा सड़कों पे

आनंद बख़्शी

शृंगार रस | आधुनिक काल

सहमते स्वर-3

शिवमंगल सिंह 'सुमन'

अद्भुत रस | आधुनिक काल

याद 

सुमित्रानंदन पंत

करुण रस | आधुनिक काल

ये शफ़क़ शाम हो रही है अब

दुष्यंत कुमार

अद्भुत रस | आधुनिक काल

मेघ बजे

नागार्जुन

अद्भुत रस | आधुनिक काल

उत्तर नहीं हूँ

धर्मवीर भारती

शांत रस | आधुनिक काल

ईश्वर ने जो हमें दिया है

प्रभुदयाल श्रीवास्तव

अद्भुत रस | आधुनिक काल

पूजा-गीत

सोहनलाल द्विवेदी

शांत रस | आधुनिक काल

जग के उर्वर आँगन में

सुमित्रानंदन पंत

शांत रस | आधुनिक काल

स्वर की तरंगें

सोम ठाकुर

शांत रस | आधुनिक काल

हरित फौवारों सरीखे धान

नामवर सिंह

शांत रस | आधुनिक काल

बहुरूपिया

फणीश्वर नाथ रेणु

हास्य रस | आधुनिक काल

फेरु

त्रिलोचन

अद्भुत रस | आधुनिक काल

विजयी के सदृश जियो रे

रामधारी सिंह 'दिनकर'

वीर रस | आधुनिक काल

मन मीन

बालकृष्ण शर्मा 'नवीन'

अद्भुत रस | आधुनिक काल

है अँधेरी रात पर दीवा जलाना कब मना है

हरिवंश राय बच्चन

अद्भुत रस | आधुनिक काल

देशद्रोह

वियोगी हरि

वीर रस | आधुनिक काल

बाँसुरी चली आओ

कुमार विश्वास

शृंगार रस | आधुनिक काल

आषाढ़

नरेन्द्र शर्मा

अद्भुत रस | आधुनिक काल

हवा के साथ साथ

आनंद बख़्शी

शृंगार रस | आधुनिक काल

रूह जिस्म का ठौर ठिकाना चलता रहता है

कुमार विश्वास

अद्भुत रस | आधुनिक काल

पीपल

त्रिलोचन

अद्भुत रस | आधुनिक काल

खुरदरे पैर
 

नागार्जुन

करुण रस | आधुनिक काल

युग और मैं

नरेन्द्र शर्मा

करुण रस | आधुनिक काल

हरी हुई सब भूमि

भारतेंदु हरिश्चंद्र

अद्भुत रस | आधुनिक काल

तूफानों की और घुमा दो नाविक निज पतवार

शिवमंगल सिंह 'सुमन'

वीर रस | आधुनिक काल

बलि-बलि जाऊँ 

श्रीधर पाठक

वीर रस | आधुनिक काल

आधी रात में

पाश

अद्भुत रस | आधुनिक काल

सहमते स्वर-5 

शिवमंगल सिंह 'सुमन'

शांत रस | आधुनिक काल

परिचय

रामधारी सिंह 'दिनकर'

अद्भुत रस | आधुनिक काल

मगर निठुर न तुम रुके

गोपालदास ‘नीरज’

करुण रस | आधुनिक काल

क्या है मेरी बारी में

हरिवंश राय बच्चन

शांत रस | आधुनिक काल

तुम्हारे बग़ैर

पाश

अद्भुत रस | आधुनिक काल

मैं विद्युत् में तुम्हें निहारूँ

गोपाल सिंह नेपाली

शृंगार रस | आधुनिक काल

हमने नाव सिन्धु में छोड़ी

गुलाब खंडेलवाल

वीर रस | आधुनिक काल

किस बाग़ में मैं जन्मा खेला 

प्रदीप

शांत रस | आधुनिक काल

दो गुलाब के फूल

गोपालदास ‘नीरज’

शृंगार रस | आधुनिक काल

कल के प्रश्न

प्रभुदयाल श्रीवास्तव

अद्भुत रस | आधुनिक काल

कड़वे सत्य कहे

सोम ठाकुर

अद्भुत रस | आधुनिक काल

कठोर हुई जिंदगी

सोम ठाकुर

अद्भुत रस | आधुनिक काल

दाने

केदारनाथ सिंह

शांत रस | आधुनिक काल

इस अहद के इन्साँ मे वफ़ा ढूँढ रहे हैं

राजेश रेड्डी

शांत रस | आधुनिक काल

रात चुपचाप दबे पाँव

गुलज़ार

शांत रस | आधुनिक काल

तब मानव कवि बन जाता है

गोपालदास ‘नीरज’

शांत रस | आधुनिक काल

जिन्दगी

केदारनाथ अग्रवाल

अद्भुत रस | आधुनिक काल

उस पार

गोपाल सिंह नेपाली

अद्भुत रस | आधुनिक काल

जयंती या पुण्य तिथि

प्रभुदयाल श्रीवास्तव

शांत रस | आधुनिक काल

यदि मैं होता घन सावन का

गोपालदास ‘नीरज’

अद्भुत रस | आधुनिक काल

आदत ज़रा सुधारो ना

प्रभुदयाल श्रीवास्तव

अद्भुत रस | आधुनिक काल

दिमाग़ी गुहान्धकार का ओरांग उटांग

गजानन माधव 'मुक्तिबोध'

अद्भुत रस | आधुनिक काल

कौन तुम मेरे हृदय में

महादेवी वर्मा

शृंगार रस | आधुनिक काल

फसल

केदारनाथ सिंह

अद्भुत रस | आधुनिक काल

धूप सा तन दीप सी मैं

महादेवी वर्मा

शांत रस | आधुनिक काल

स्वप्न झरे फूल से, मीत चुभे शूल से

गोपालदास ‘नीरज’

करुण रस | आधुनिक काल

मैं पूछता हूँ

पाश

शांत रस | आधुनिक काल

श्रमिक

रांगेय राघव

अद्भुत रस | आधुनिक काल

मेरे जीवन के पथ पर

प्रदीप

अद्भुत रस | आधुनिक काल

नाश देवता

गजानन माधव 'मुक्तिबोध'

शांत रस | आधुनिक काल

जय हो

गुलज़ार

वीर रस | आधुनिक काल

जीवन गाते-गाते बीते 

गुलाब खंडेलवाल

शांत रस | आधुनिक काल

सदा चाँदनी 

बालकृष्ण शर्मा 'नवीन'

शांत रस | आधुनिक काल

वेणु लो, गूँजे धरा

माखनलाल चतुर्वेदी

रौद्र रस | आधुनिक काल

नास्तिक

रांगेय राघव

अद्भुत रस | आधुनिक काल

क्या पूजन क्या अर्चन रे

महादेवी वर्मा

शृंगार रस | आधुनिक काल

हिमाद्रि तुंग शृंग से

जयशंकर प्रसाद

वीर रस | आधुनिक काल

खुला रहने दो

रांगेय राघव

शांत रस | आधुनिक काल

यह तो शीशमहल है

गुलाब खंडेलवाल

शांत रस | आधुनिक काल

अनूठी बातें

अयोध्या सिंह उपाध्याय ‘हरिऔध’

अद्भुत रस | आधुनिक काल

ये इतने लोग कहाँ जाते हैं सुबह-सुबह

कुमार विश्वास

अद्भुत रस | आधुनिक काल

नैना दीवाने एक नहीं माने

नरेन्द्र शर्मा

अद्भुत रस | आधुनिक काल

पिंजरे के पंछी रे

प्रदीप

करुण रस | आधुनिक काल

बेवजह दिल पे कोई

उर्मिलेश

शांत रस | आधुनिक काल

राष्ट्र देवता 

सोम ठाकुर

वीर रस | आधुनिक काल

अमर स्पर्श

सुमित्रानंदन पंत

शृंगार रस | आधुनिक काल

कुरुक्षेत्र / द्वितीय सर्ग / भाग 4

रामधारी सिंह 'दिनकर'

वीर रस | आधुनिक काल

पथ में साँझ

नामवर सिंह

अद्भुत रस | आधुनिक काल

कोजागर

नामवर सिंह

शांत रस | आधुनिक काल

पालतू

प्रभाकर माचवे

शांत रस | आधुनिक काल

प्रेत

नागार्जुन

अद्भुत रस | आधुनिक काल

दीपक जलता रहा रातभर

गोपाल सिंह नेपाली

करुण रस | आधुनिक काल

वृक्षत्व

नरेश मेहता

अद्भुत रस | आधुनिक काल

लो दिन बीता लो रात गयी

हरिवंश राय बच्चन

शांत रस | आधुनिक काल

समुद्र का पानी

रामधारी सिंह 'दिनकर'

अद्भुत रस | आधुनिक काल

तुझको पथ कैसे सूझेगा 

गुलाब खंडेलवाल

शांत रस | आधुनिक काल

प्रतिबद्ध हूँ, संबद्ध हूँ, आबद्ध हूँ

नागार्जुन

वीर रस | आधुनिक काल

एक किरण आई छाई

सोहनलाल द्विवेदी

शांत रस | आधुनिक काल

महफ़िल महफ़िल

कुमार विश्वास

शृंगार रस | आधुनिक काल

राजा वसन्त वर्षा ऋतुओं की रानी

रामधारी सिंह 'दिनकर'

शांत रस | आधुनिक काल

पक्षी और बादल

रामधारी सिंह 'दिनकर'

शांत रस | आधुनिक काल

शिशिर-पथिक

रामचंद्र शुक्ल

शृंगार रस | आधुनिक काल

अपनेपन का मतवाला

गोपाल सिंह नेपाली

शांत रस | आधुनिक काल

पुरुष

नरेश मेहता

अद्भुत रस | आधुनिक काल

मैं अकेला और पानी बरसता है

शिवमंगल सिंह 'सुमन'

शृंगार रस | आधुनिक काल

एक चिड़ा और एक चिड़ी की कहानी

जयप्रकाश नारायण

अद्भुत रस | आधुनिक काल

जीवन से 

केदारनाथ अग्रवाल

अद्भुत रस | आधुनिक काल

इस तरह ढक्कन लगाया रात ने

माखनलाल चतुर्वेदी

शांत रस | आधुनिक काल

वही है धरा वही है अम्बर 

गुलाब खंडेलवाल

शांत रस | आधुनिक काल

मै मरते लोकतन्त्र का बयान हूँ

हरिओम पंवार

वीर रस | आधुनिक काल

साथी चाँद

नरेन्द्र शर्मा

शांत रस | आधुनिक काल

साँझ के बादल

धर्मवीर भारती

शांत रस | आधुनिक काल

पर आँखें नहीं भरीं

शिवमंगल सिंह 'सुमन'

शृंगार रस | आधुनिक काल

कुरुक्षेत्र / तृतीय सर्ग / भाग 2

रामधारी सिंह 'दिनकर'

वीर रस | आधुनिक काल

ऐसे मैं मन बहलाता हूँ

हरिवंश राय बच्चन

शांत रस | आधुनिक काल

सिपाही 

रामधारी सिंह 'दिनकर'

वीर रस | आधुनिक काल

राही से

प्रभाकर माचवे

शांत रस | आधुनिक काल

हर लिया क्यों शैशव नादान

नरेन्द्र शर्मा

अद्भुत रस | आधुनिक काल

इक इमारत

गुलज़ार

शांत रस | आधुनिक काल

सुदामा चरित

नरोत्तमदास

अद्भुत रस | आधुनिक काल

मिट्टी का जिस्म लेके मैं पानी के घर में हूँ

राजेश रेड्डी

अद्भुत रस | आधुनिक काल

मेरे मन हँसते हुए चल

प्रदीप

शांत रस | आधुनिक काल

आत्‍मपरिचय

हरिवंश राय बच्चन

शांत रस | आधुनिक काल

मुझे तो लहर बना रहने दो

गुलाब खंडेलवाल

अद्भुत रस | आधुनिक काल

आजादी के टूटे-फूटे सपने लेकर बैठा हूँ

हरिओम पंवार

करुण रस | आधुनिक काल

विनोद 

वृन्दावनलाल वर्मा

शांत रस | आधुनिक काल

निरापद कोई नहीं है

भवानी प्रसाद मिश्र

अद्भुत रस | आधुनिक काल

बुरा ज़माना

नामवर सिंह

शांत रस | आधुनिक काल

चलो चलें मन सपनो के गाँव में

प्रदीप

अद्भुत रस | आधुनिक काल

प्रेम: एक परिभाषा

प्रभाकर माचवे

शांत रस | आधुनिक काल

लोहे के मर्द

रामधारी सिंह 'दिनकर'

वीर रस | आधुनिक काल

काली काली

गुलज़ार

शांत रस | आधुनिक काल

उसको शाहनशही हर बार मुबारक होवे

भारतेंदु हरिश्चंद्र

अद्भुत रस | आधुनिक काल

मैं उनका ही होता

गजानन माधव 'मुक्तिबोध'

अद्भुत रस | आधुनिक काल

ओस 

सोहनलाल द्विवेदी

शांत रस | आधुनिक काल

बरफ़ पड़ी है

नागार्जुन

अद्भुत रस | आधुनिक काल

अयोध्या की आग पर

हरिओम पंवार

वीर रस | आधुनिक काल

बीन भी हूँ मैं तुम्हारी रागिनी भी हूँ

महादेवी वर्मा

शृंगार रस | आधुनिक काल

प्रिय आत्मन

विष्णु प्रभाकर

शृंगार रस | आधुनिक काल

तुम से आप

अशोक चक्रधर

हास्य रस | आधुनिक काल

अब बुलाऊँ भी तुम्हें तो

गोपालदास ‘नीरज’

करुण रस | आधुनिक काल

कंकरीला मैदान

केदारनाथ अग्रवाल

अद्भुत रस | आधुनिक काल

बादल

अयोध्या सिंह उपाध्याय ‘हरिऔध’

शांत रस | आधुनिक काल

शोक की संतान 

रामधारी सिंह 'दिनकर'

करुण रस | आधुनिक काल

एक बार जो

अशोक वाजपेयी

अद्भुत रस | आधुनिक काल

आओ फिर से दिया जलाएँ

अटल बिहारी वाजपेयी

अद्भुत रस | आधुनिक काल

ओस बिंदु सम ढरके

बालकृष्ण शर्मा 'नवीन'

अद्भुत रस | आधुनिक काल

मेघ आए

सर्वेश्वर दयाल सक्सेना

अद्भुत रस | आधुनिक काल

हम सब सुमन एक उपवन के

द्वारिका प्रसाद माहेश्वरी

शांत रस | आधुनिक काल

अर्धचेतन अवस्था में कविता

रांगेय राघव

अद्भुत रस | आधुनिक काल

गुरु गोविंदसिंह 

वियोगी हरि

वीर रस | आधुनिक काल

खुद से भी मिल न सको

कुमार विश्वास

अद्भुत रस | आधुनिक काल

तुम भी बोलो, क्या दूँ रानी

नरेन्द्र शर्मा

शृंगार रस | आधुनिक काल

आएगी आएगी आएगी किसी को

आनंद बख़्शी

शृंगार रस | आधुनिक काल

करघा

रामधारी सिंह 'दिनकर'

शांत रस | आधुनिक काल

गाओ

त्रिलोचन

शांत रस | आधुनिक काल

अभी न पर्दा गिराओ

गुलज़ार

करुण रस | आधुनिक काल

अम्मा को अब भी है याद

प्रभुदयाल श्रीवास्तव

अद्भुत रस | आधुनिक काल

ये वृक्षों में उगे परिन्दे

माखनलाल चतुर्वेदी

शांत रस | आधुनिक काल

झर गये पात

बालकवि बैरागी

करुण रस | आधुनिक काल

अमर क्रांतिकारी चंद्रशेखर का परिचय

हरिओम पंवार

वीर रस | आधुनिक काल

नीड़ का निर्माण

हरिवंश राय बच्चन

अद्भुत रस | आधुनिक काल

एक पत्र 

रामधारी सिंह 'दिनकर'

अद्भुत रस | आधुनिक काल

किन उपकरणों का दीपक

महादेवी वर्मा

अद्भुत रस | आधुनिक काल

माध्यम

रामधारी सिंह 'दिनकर'

शांत रस | आधुनिक काल

और नहीं, बस और नहीं,

संतोषानन्द

करुण रस | आधुनिक काल

देश-गीत

श्रीधर पाठक

वीर रस | आधुनिक काल

धूप का टुकड़ा

सुमित्रानंदन पंत

अद्भुत रस | आधुनिक काल

निराशावादी

रामधारी सिंह 'दिनकर'

अद्भुत रस | आधुनिक काल

मेरे नगपति! मेरे विशाल!

रामधारी सिंह 'दिनकर'

अद्भुत रस | आधुनिक काल

माना तेरी नज़र में तेरा प्यार हम नहीं

नक्श लायलपुरी

शृंगार रस | आधुनिक काल

तेरा है

अशोक चक्रधर

अद्भुत रस | आधुनिक काल

स्वप्न से किसने जगाया

महादेवी वर्मा

शांत रस | आधुनिक काल

पहला पानी 

केदारनाथ अग्रवाल

शांत रस | आधुनिक काल

कुछ छोटे सपनो के बदले

कुमार विश्वास

अद्भुत रस | आधुनिक काल

अब यह चिड़िया कहाँ रहेगी

महादेवी वर्मा

करुण रस | आधुनिक काल

अपील

आलोक श्रीवास्तव

शांत रस | आधुनिक काल

मैं तुम लोगों से इतना दूर हूँ

गजानन माधव 'मुक्तिबोध'

अद्भुत रस | आधुनिक काल

भारत की जय

चंद्रधर शर्मा 'गुलेरी'

वीर रस | आधुनिक काल

मैं नीर भरी दुःख की बदली

महादेवी वर्मा

करुण रस | आधुनिक काल

सन् ४७ को याद करते हुए

केदारनाथ सिंह

करुण रस | आधुनिक काल

आदमी जो सुनता है, आदमी जो कहता है

आनंद बख़्शी

अद्भुत रस | आधुनिक काल

प्रभाती

रघुवीर सहाय

शांत रस | आधुनिक काल

संध्या

अयोध्या सिंह उपाध्याय ‘हरिऔध’

शांत रस | आधुनिक काल

मेरा धन है स्वाधीन क़लम

गोपाल सिंह नेपाली

वीर रस | आधुनिक काल

गुलाब हम,गुलाब तुम

कुँअर बेचैन

शांत रस | आधुनिक काल

हम अनिकेतन

बालकृष्ण शर्मा 'नवीन'

अद्भुत रस | आधुनिक काल

जो बरसों तक सड़े जेल में

अटल बिहारी वाजपेयी

वीर रस | आधुनिक काल

हम को मन की शक्ति देना

गुलज़ार

शांत रस | आधुनिक काल

अवकाश वाली सभ्यता

रामधारी सिंह 'दिनकर'

अद्भुत रस | आधुनिक काल

पुकार कर

भवानी प्रसाद मिश्र

अद्भुत रस | आधुनिक काल

झील

रामधारी सिंह 'दिनकर'

अद्भुत रस | आधुनिक काल

बात करनी है

कुमार विश्वास

शृंगार रस | आधुनिक काल

सब जीवन बीता जाता है

जयशंकर प्रसाद

शांत रस | आधुनिक काल

गंगा, बहती हो क्यूँ 

नरेन्द्र शर्मा

वीभत्स रस | आधुनिक काल

ग्रीष्म स्वर्णका

गयाप्रसाद शुक्ल 'सनेही'

अद्भुत रस | आधुनिक काल

फिर बसंत आना है

कुमार विश्वास

वीर रस | आधुनिक काल

काले-काले

नागार्जुन

शांत रस | आधुनिक काल

जय जन भारत

सुमित्रानंदन पंत

शांत रस | आधुनिक काल

देखो, आहिस्ता चलो

गुलज़ार

शांत रस | आधुनिक काल

इक प्यार का नग़मा है

संतोषानन्द

अद्भुत रस | आधुनिक काल

उल्लास

सुभद्राकुमारी चौहान

अद्भुत रस | आधुनिक काल

जाग तुझको दूर जाना

महादेवी वर्मा

शांत रस | आधुनिक काल

नर हो, न निराश करो मन को

मैथिलीशरण गुप्त

वीर रस | आधुनिक काल

चूरन का लटका 

भारतेंदु हरिश्चंद्र

हास्य रस | आधुनिक काल

माँ

कुमार विश्वास

शांत रस | आधुनिक काल

तुम मुझमें प्रिय, फिर परिचय क्या

महादेवी वर्मा

शृंगार रस | आधुनिक काल

बदरिया

गयाप्रसाद शुक्ल 'सनेही'

अद्भुत रस | आधुनिक काल

मन जंगल के हुए

सोम ठाकुर

अद्भुत रस | आधुनिक काल

गाँधी

रामधारी सिंह 'दिनकर'

अद्भुत रस | आधुनिक काल

शाम को जिस वक़्त

राजेश रेड्डी

करुण रस | आधुनिक काल

जागो मन के सजग पथिक ओ

फणीश्वर नाथ रेणु

अद्भुत रस | आधुनिक काल

मातृ मूर्ति

पदुमलाल पुन्नालाल बख्शी

शांत रस | आधुनिक काल

जो मुखरित कर जाती थीं

महादेवी वर्मा

शृंगार रस | आधुनिक काल

तुलना

दुष्यंत कुमार

अद्भुत रस | आधुनिक काल

बालिका से वधू

रामधारी सिंह 'दिनकर'

अद्भुत रस | आधुनिक काल

नौजवान आओ रे

बालकवि बैरागी

वीर रस | आधुनिक काल

वरदान या अभिशाप?

माखनलाल चतुर्वेदी

शांत रस | आधुनिक काल

हो कहाँ अग्निधर्मा नवीन ऋषियों

रामधारी सिंह 'दिनकर'

अद्भुत रस | आधुनिक काल

आज़ादी का एक 'पल्लु'

सुब्रह्मण्यम भारती

अद्भुत रस | आधुनिक काल

निगाहों में वो हैरानी नहीं है

राजेश रेड्डी

अद्भुत रस | आधुनिक काल

अश्वत्थ

प्रभाकर माचवे

अद्भुत रस | आधुनिक काल

प्यारे भारत देश

माखनलाल चतुर्वेदी

अद्भुत रस | आधुनिक काल

इस रिमझिम में चाँद हँसा है

गोपाल सिंह नेपाली

अद्भुत रस | आधुनिक काल

प्रभात किरण

गयाप्रसाद शुक्ल 'सनेही'

वीर रस | आधुनिक काल

जो जीवन की धूल चाट कर बड़ा हुआ है

केदारनाथ अग्रवाल

वीर रस | आधुनिक काल

ये जो ज़िन्दगी की किताब है

राजेश रेड्डी

शांत रस | आधुनिक काल

धीरे धीरे आ रे बादल

प्रदीप

अद्भुत रस | आधुनिक काल

प्रेमा नदी

सोम ठाकुर

शृंगार रस | आधुनिक काल

न जाने किधर आज

प्रदीप

शांत रस | आधुनिक काल

अब विदा लेता हूँ

पाश

शृंगार रस | आधुनिक काल

टूटा पहिया

धर्मवीर भारती

अद्भुत रस | आधुनिक काल

आछी के फूल

त्रिलोचन

शांत रस | आधुनिक काल

अन्तिम कविता

रांगेय राघव

अद्भुत रस | आधुनिक काल

अब मत चला कुल्हाड़ी

प्रभुदयाल श्रीवास्तव

अद्भुत रस | आधुनिक काल

23 मार्च

पाश

करुण रस | आधुनिक काल

वफ़ा

पाश

अद्भुत रस | आधुनिक काल

जो आईने में है उसकी तरफ़दारी भी करनी है 

राजेश रेड्डी

शांत रस | आधुनिक काल

मै अनंत पथ में लिखती जो

महादेवी वर्मा

शांत रस | आधुनिक काल

तुम्हारी छत पे निगरानी बहुत है

कुमार विश्वास

शृंगार रस | आधुनिक काल

यह सोनजुही-सी चाँदनी

नरेश मेहता

शांत रस | आधुनिक काल

लंदन में बिक आया नेता

केदारनाथ अग्रवाल

हास्य रस | आधुनिक काल

औंदू बोला

प्रभुदयाल श्रीवास्तव

अद्भुत रस | आधुनिक काल

सावधान, जन-नायक सावधान

बालकृष्ण राव

वीर रस | आधुनिक काल

लेन-देन

रामधारी सिंह 'दिनकर'

शांत रस | आधुनिक काल

विजन गिरीपथ पर

नामवर सिंह

अद्भुत रस | आधुनिक काल

ऐसा भी होगा 

भवानी प्रसाद मिश्र

शृंगार रस | आधुनिक काल

असहयोग कर दो

गयाप्रसाद शुक्ल 'सनेही'

वीर रस | आधुनिक काल

अंगारे और धुआँ

शिवमंगल सिंह 'सुमन'

अद्भुत रस | आधुनिक काल

माँ

नरेश मेहता

शांत रस | आधुनिक काल

किरन-धेनुएँ

नरेश मेहता

अद्भुत रस | आधुनिक काल

सूरज डूब गया बल्ली भर

नरेन्द्र शर्मा

अद्भुत रस | आधुनिक काल

ऊपर गगन विशाल

प्रदीप

शांत रस | आधुनिक काल

उन मुस्कानों की बलि जाऊँ

वृन्दावनलाल वर्मा

अद्भुत रस | आधुनिक काल

लौ-ए-दिल जला दूँ क्या

जॉन एलिया

शांत रस | आधुनिक काल

जियो जियो अय हिन्दुस्तान

रामधारी सिंह 'दिनकर'

वीर रस | आधुनिक काल

मुक्ति की आकांक्षा

सर्वेश्वर दयाल सक्सेना

शांत रस | आधुनिक काल

माँ! यह वसंत ऋतुराज री!

द्वारिका प्रसाद माहेश्वरी

शांत रस | आधुनिक काल

स्वप्न था मेरा भयंकर

हरिवंश राय बच्चन

अद्भुत रस | आधुनिक काल

दोस्त, देखते हो जो तुम

नामवर सिंह

अद्भुत रस | आधुनिक काल

पवन ने कहा

कुमार विश्वास

शृंगार रस | आधुनिक काल

ज़िन्दगी तूने लहू ले के

राजेश रेड्डी

अद्भुत रस | आधुनिक काल

जल भरे झूमैं मानौं भूमैं परसत आप

श्रीपति

शृंगार रस | आधुनिक काल

अपने सच में

राजेश रेड्डी

शांत रस | आधुनिक काल

आलपिन कांड

अशोक चक्रधर

हास्य रस | आधुनिक काल

साजन लेंगे जोग

बालकृष्ण शर्मा 'नवीन'

शृंगार रस | आधुनिक काल

उठ महान

माखनलाल चतुर्वेदी

वीर रस | आधुनिक काल

एक गुड़िया

दुष्यंत कुमार

अद्भुत रस | आधुनिक काल

लहरों में साथ रहे कोई

त्रिलोचन

शांत रस | आधुनिक काल

नज़र-नवाज़ नज़ारा बदल न जाए

दुष्यंत कुमार

अद्भुत रस | आधुनिक काल

होलिका पंचक

प्रतापनारायण मिश्र

अद्भुत रस | आधुनिक काल

कोयल

सुभद्राकुमारी चौहान

शांत रस | आधुनिक काल

ये अनाज की पूलें तेरे काँधें झूलें

माखनलाल चतुर्वेदी

शांत रस | आधुनिक काल

आज ही होगा

बालकृष्ण राव

वीर रस | आधुनिक काल

अब तो मज़हब कोई

गोपालदास ‘नीरज’

अद्भुत रस | आधुनिक काल

कौन जाने

बालकृष्ण राव

वीर रस | आधुनिक काल

आग का अर्थ

विष्णु प्रभाकर

अद्भुत रस | आधुनिक काल

हम लाये हैं तूफ़ान से किश्ती निकाल के

प्रदीप

वीर रस | आधुनिक काल

यह है भारत देश हमारा

सुब्रह्मण्यम भारती

अद्भुत रस | आधुनिक काल

दूर जाकर न कोई बिसारा करे 

गोपाल सिंह नेपाली

शांत रस | आधुनिक काल

धर्म की कमाई

त्रिलोचन

अद्भुत रस | आधुनिक काल

हक दो

केदारनाथ सिंह

शांत रस | आधुनिक काल

मेरा देश जल रहा,कोई नहीं बुझानेवाला

शिवमंगल सिंह 'सुमन'

करुण रस | आधुनिक काल

चीख़

अशोक वाजपेयी

करुण रस | आधुनिक काल

आ जा तुझको पुकारें मेरे गीत रे

आनंद बख़्शी

शृंगार रस | आधुनिक काल

हिंदी का समारोह गीत

सोम ठाकुर

शांत रस | आधुनिक काल

मेरा देश 

सोहनलाल द्विवेदी

अद्भुत रस | आधुनिक काल

दुश्मन-ए-जाँ को हम अपनी जाँ बना बैठे

संतोषानन्द

शृंगार रस | आधुनिक काल

दिन गीत-गीत हो चला

सोम ठाकुर

शृंगार रस | आधुनिक काल

ख़ुदा

गुलज़ार

शांत रस | आधुनिक काल

जीवन गाते-गाते बीते

गुलाब खंडेलवाल

शांत रस | आधुनिक काल

वही त्रिलोचनहै

त्रिलोचन

अद्भुत रस | आधुनिक काल

आज सड़कों पर

दुष्यंत कुमार

वीर रस | आधुनिक काल

उम्र गुज़रेगी इम्तहान में क्या

जॉन एलिया

शांत रस | आधुनिक काल

दिन बीता

नामवर सिंह

शांत रस | आधुनिक काल

तरूण से

त्रिलोचन

वीर रस | आधुनिक काल

जब भी इस शहर में

गोपालदास ‘नीरज’

अद्भुत रस | आधुनिक काल

घायल भारत माता की तस्वीर दिखाने लाया हूँ

हरिओम पंवार

वीर रस | आधुनिक काल

परतंत्रता की गाँठ

गयाप्रसाद शुक्ल 'सनेही'

करुण रस | आधुनिक काल

बनारस

केदारनाथ सिंह

शांत रस | आधुनिक काल

बँटवारे न कर

सोम ठाकुर

अद्भुत रस | आधुनिक काल

अपने आप में

भवानी प्रसाद मिश्र

शांत रस | आधुनिक काल

सबसे ख़तरनाक

पाश

अद्भुत रस | आधुनिक काल

अब बुज़ुर्गों के

उर्मिलेश

शांत रस | आधुनिक काल




  परिचय

"मातृभाषा", हिंदी भाषा एवं हिंदी साहित्य के प्रचार प्रसार का एक लघु प्रयास है। "फॉर टुमारो ग्रुप ऑफ़ एजुकेशन एंड ट्रेनिंग" द्वारा पोषित "मातृभाषा" वेबसाइट एक अव्यवसायिक वेबसाइट है। "मातृभाषा" प्रतिभासम्पन्न बाल साहित्यकारों के लिए एक खुला मंच है जहां वो अपनी साहित्यिक प्रतिभा को सुलभता से मुखर कर सकते हैं।

  Contact Us
  Registered Office

47/202 Ballupur Chowk, GMS Road
Dehradun Uttarakhand, India - 248001.

Tel : + (91) - 8439003408

Tel : + (91) - 8881813408
Mail : info@maatribhasha.com