कोरोना चला संसद  SANTOSH GUPTA

कोरोना चला संसद

SANTOSH GUPTA

कोरोना ने कहाँ कि कोरोनी! छाता और घड़ी दो,
लाया था जो चीनी शहर से, लाओ वो पगड़ी दो।
 

जो भी मिले बूढ़े जवान, सब मिलकर निपटा लेना,
वैक्सीन का लिहाज न करना, मर्यादा भुला देना।
 

मास्क एक बड़ा दुश्मन है, वो बीच में न आ जाए,
चलो फिर मिलेंगे, सैनिटाईजर से अगर बच पाए।
 

ठहर जाना विश्राम को जब हो जाए हद,
देश कि दशा समझने चलता हूँ मैं संसद।
 

पहन-ओढ़कर कोरोना निकला कोरोनी को समझाकर,
खुद चला मनोविनोद करने बच्चों को फुसलाकर।
 

अकड़कर चला कोरोना हिम्मत अपनी बढ़ाकर,
बंद दुकानें सूनी गलियों और सुन्न सड़कों को पाकर।
 

नेताजी के नोकझोंक का दृश्य लगा उसे सुंदर,
सीना ताने जब कोरोना पहुँचा संसद के अंदर।
 

मारे कितने है हमने इसी बात पर चर्चा थी,
प्रवक्ताओं के पिटारो से कुतर्कों की वर्षा थी।
 

एक कहता मरे बहुत हैं पर दिखाया कम गया है,
एक कहता कुछ छिपाया नहीं बताया सब गया है।
 

किसकी भला मैं मानूँ किसका यकीन करू मैं,
इस देश की संसद से क्या कूद कर अब मरुँ मैं।
 

लहर मेरी ये किसने लाई इस पर बड़ी दंगल थी,
बाहर से अधिक संसद के भीतर ही हलचल थी।
 

टीके क्यों बेचे, की क्यों ये बड़ी गलती थी,
ऐसी ही बातों की प्रतिध्वनि वहाँ भरी थी।
 

देख सारा तमाशा कोरोना वहाँ से भागा,
हाल भवन का देख नींद से वो जागा।
 

सोचा था उसने फैलाया सबसे जहरीला लहर है,
जाना अब उससे अधिक तो संसद में जहर है।

अपने विचार साझा करें




1
ने पसंद किया
78
बार देखा गया

पसंद करें


  परिचय

"मातृभाषा", हिंदी भाषा एवं हिंदी साहित्य के प्रचार प्रसार का एक लघु प्रयास है। "फॉर टुमारो ग्रुप ऑफ़ एजुकेशन एंड ट्रेनिंग" द्वारा पोषित "मातृभाषा" वेबसाइट एक अव्यवसायिक वेबसाइट है। "मातृभाषा" प्रतिभासम्पन्न बाल साहित्यकारों के लिए एक खुला मंच है जहां वो अपनी साहित्यिक प्रतिभा को सुलभता से मुखर कर सकते हैं।

  Contact Us
  Registered Office

47/202 Ballupur Chowk, GMS Road
Dehradun Uttarakhand, India - 248001.

Tel : + (91) - 7534072808
Mail : info@maatribhasha.com